National Wheels

सपाई कांटे से मैनपुरी का किला जीतने उतरी भाजपा, रामपुर और खतौली के प्रत्याशी घोषित

सपाई कांटे से मैनपुरी का किला जीतने उतरी भाजपा, रामपुर और खतौली के प्रत्याशी घोषित

लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी ने सपाई रणनीति को देखने के बाद मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव के लिए तुरुप का इक्का चला है। भाजपा ने सपा प्रत्याशी डिंपल यादव के खिलाफ प्रसपा मुखिया शिवपाल यादव के करीबी रहे रघुराज सिंह शाक्य को मोर्चाबंदी कर दी है। रघुराज के प्रत्याशी बनने के बाद संभावना है कि शिवपाल यादव उप चुनाव से दूरी बनाकर भतीजे अखिलेश यादव को चित करने का दांव आजमाएं। उधर, रामपुर विधान सभा उपचुनाव में आजम खां के धुरविरोधी कार्यकर्ता आकाश सक्सेना को प्रत्याशी बनाया है। खतौली सीट से जेल जाने वाले विधायक विक्रम सैनी की पत्नी राजकुमारी सैनी को प्रत्याशी बनाया है।

यूपी में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के निधन से मैनपुरी सीट पर उपचुनाव हो रहा है। 2019 में मुलायम सिंह यादव सांसद चुने गए थे। वह इस सीट से पांच बार सांसद निर्वाचित हुए थे। भाजपा प्रत्याशी बने रघुराज शाक्य सपा छोड़कर भाजपा में पहुंचे हैं। इसी सीट पर वह दो बार सपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं।

राजनीतिक गलियारे में चर्चा है कि भाजपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के सहारे मुलायम सिंह यादव के गढ़ मैनपुरी संसदीय क्षेत्र में खेल करने के मूड में भाजपा है। विधानसभा चुनाव के बाद शिवपाल यादव ने सपा मुखिया अखिलेश यादव से दूरी बना ली है। इसीलिए माना जा रहा है कि डिंपल की शिकस्त में वह अपनी जीत देख रहे हैं।

मैनपुरी लोकसभा सीट पर भाजपा ने जातिगत आंकड़ों को साधने की कोशिश की है। यादव के बाद शाक्य जाति के मतदाताओं की संख्या सबसे अधिक है। इसे जसवंतनगर विधानसभा सीट के मतदाताओं में सेंध लगाने की कोशिश के रूप मे देखा जा रहा है।

उधर, तीन वर्ष की सजा होने के बाद सपा नेता आजम खां की विधानसभा सदस्यता निरस्त हो गई है। साथ ही विक्रम सैनी को दो साल की सजा होने से मुजफ्फरनगर की खतौली सीट रिक्त हुई है। विक्रम सैनी भाजपा से 2022 में हुए चुनाव में जीते थे।

भाजपा ने खतौली सीट से विक्रम सैनी की पत्नी राजकुमारी सैनी को प्रत्याशी बनाया है। उधर, बीजेपी के रामपुर से आकाश सक्सेना को प्रत्याशी घोषित किया है। आकाश सक्सेना आजम खान पर दर्ज कई मुकदमों में वादी भी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.