National Wheels

श्रृंगार गौरी- ज्ञानवापी के फैसले पर भड़के बाबरी मस्जिद के पक्षकार, हाजी महबूब ने कहा- …तो बहुत बुरा होगा

श्रृंगार गौरी- ज्ञानवापी के फैसले पर भड़के बाबरी मस्जिद के पक्षकार, हाजी महबूब ने कहा- …तो बहुत बुरा होगा

समीर शाही

अयोध्या। श्रृंगार गौरी- ज्ञानवापी को लेकर वाराणसी जिला अदालत के फैसले से मुस्लिम पक्ष असंतुष्ट दिख रहा है। मुस्लिम पक्ष के लोग अब हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने की बात कर रहे हैं। कुछ लोग भड़काऊ बयानबाजी कर सुर्खियां बटोरने का काम भी कर रहे हैं।

अयोध्या राम मंदिर- मस्जिद विवाद के पैरोकार रहे हाजी महबूब ने अपनी पुराने दर्द को बयां करते हुए चेतावनी भी दे दी है कि अगर अयोध्या की तरह काशी में कुछ हुआ तो सही नहीं होगा। हाजी ने ऐसी चेतावनियां भी दे डालीं, जो कानून व्यवस्था के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है।

तो क्या यह समझा जाये कि मुस्लिम समाज संवैधानिक प्रक्रिया को भी नहीं मान रहा हैं?

काशी के ज्ञानवापी परिसर में पूजा पाठ की अनुमति की मांग को लेकर दाखिल याचिका पर जिला अदालत ने मुस्लिम पक्षकारों और इंतजार कमेटी की वह याचिका खारिज कर दिया था जिसमें उन्होंने हिन्दू पक्ष की याचिका को सुनवाई योग्य न होने के आधार पर निरस्त करने की मांग की थी। अब कोर्ट पूजा-पाठ के अधिकार मांगने वाली याचिका पर सुनवाई करेगा।

अब इस मामले पर बाबरी मस्जिद के पूर्व पैरोकार हाजी महबूब ने विवादित बयान दे डाला है। हाजी महबूब ने स्थानीय मीडिया से कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद है, वह मस्जिद ही रहेगी। हम लोग फैसले के ऊपर जाएंगे। हाजी महबूब ने कहा कि काशी में जो हो रहा है, वह बिल्कुल गलत हो रहा है।

हाजी ने कहा कि अयोध्या का मसला दूसरा था। हम लोगों ने खामोशी बरती। अयोध्या के मसले पर हम लोगों ने कोई इंटरेस्ट नहीं लिया। हाजी महबूब आगे कहते हैं कि अगर ज्ञानवापी के मामले में श्रीरामजन्मभूमि जैसा कुछ हुआ तो बहुत बुरा होगा। इतना ही नहीं विवादित बयान देते हुए हाजी महबूब ने कहा कि आरएसएस वाले और हुकूमत भी, सब कुछ गलत का सही करा रही है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मानसिक दिवालियापन का शिकार हो गए है हाजी – डॉ रजनीश

बीजेपी के युवा नेता डॉ रजनीश सिंह ने हाजी महबूब के बयान के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि हाजी महबूब कयामत का इंतजार करते रहें, न कयामत आएगी और न अवैध कब्ज़े बचेंगे। शरीयत के पैरोकार का न्यायालय, लोकतंत्र से भरोसा उठ गया हैं। मानसिक दिवालियापन के शिकार हो गए हैं इसलिए ऐसी बयानबाजी कर रहे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.