National Wheels

रायबरेली, अयोध्या रोड महाकुंभ तक फोरलेन करें – सीएम ने दिए निर्देश

रायबरेली, अयोध्या रोड महाकुंभ तक फोरलेन करें – सीएम ने दिए निर्देश

प्रयागराज। महाकुंभ -2025 में जौनपुर, गोरखपुर, अयोध्या और लखनऊ की अगर से आने वाले श्रद्धालुओं की खराब सड़कों वाली परेशानी दूर हो सकती है। इन सभी जिलों को जोड़ने वाले हाइवे फोरलेन बन सकते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को प्रयागराज में हुई समीक्षा बैठक में कहा कि प्रयागराज को जोड़ने वाली सभी सड़कों को फोरलेन बनाया जाए। इसके लिए तत्काल प्रक्रिया शुरू की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार को मेला प्राधिकरण स्थित आईसीसीसी सभागार में महाकुम्भ-2025 एवं माघ मेला-2023 की तैयारियों की समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री ने महाकुम्भ-2025 की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि महाकुम्भ-2025 यूनीक, अविस्मर्णीय, ग्रीन, दिव्य एवं भव्य रूप से आयोजित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने महाकुम्भ-2025 के आयोजन से सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि महाकुम्भ की सभी तैयारियां दीपावली-2024 को लक्ष्य बनाकर पूर्ण करने की तैयारी करें। मुख्यमंत्री ने विभागवार तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि महाकुम्भ-2025 में लगभग 40 करोड़ श्रद्धालुओं के आने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए उसी के अनुरूप सभी तैयारियां सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री ने महाकुम्भ-2025 में 1000 इलेक्ट्रानिक बसों के लगाये जाने हेतु कार्य योजना बनाये जाने के लिए कहा है, जिससे कि महाकुम्भ-2025 को प्रदूषण मुक्त के रूप में आयोजित किया जा सके। उन्होंने ई-रिक्सा संचालन की व्यवस्था करने, सीएनजी से मोटर बोट चलाये जाने हेतु कार्ययोजना बनाये जाने के लिए कहा है। पार्किंग के लिए लगभग 2500 हेक्टेयऱ जमीन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

सीएम योगी ने पीडब्लूडी एवं एनएच को प्रयागराज से जोड़ने वाली सभी सड़कों को फोर लेन के रूप में बनाये जाने हेतु कहा है। उन्होंने रायबरेली से प्रयागराज एवं अयोध्या से प्रयागराज आने वाली सड़क को फोर लेन के रूप में बनाये जाने हेतु तत्काल कार्रवाई किए जाने के लिए कहा है।
मुख्यमंत्री ने पीडब्लूडी एवं सेतु विभाग को आधे-अधूरे निर्माण कार्य को शीघ्र पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि जिन ओवरब्रिजों का निर्माण कार्य किन्हीं कारणों से रूका हुआ है, तत्सम्बंधी समस्याओं को तत्काल दूर करते हुए निर्माण कार्य को शीघ्रता से पूर्ण करा लिया जाये।

मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग को महाकुम्भ-2025 के मद्देनजर आने वाले लोगो के लिए आवासीय व्यवस्था हेतु अच्छे होटल बनाये जाने का प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करने के लिए कहा है। उन्होंने सर्किट हाउस की भी क्षमता बढ़ाये जाने के लिए भी कहा है। मुख्यमंत्री ने द्वादश माधव सर्किट को जोड़ने के कार्य सम्बंधी योजना का प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करने के लिए कहा है। उन्होंने अच्छी योजनाएं अभी से बनाये जाने के लिए कहा है।

सिंचाई विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने नदियों को चैनेलाइज करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि गंगा जी में पर्याप्त जल की व्यवस्था रहे। महाकुम्भ-2025 को यूनीक इवेंट के रूप में आयोजित किए जाने के लिए कहा है। महाकुम्भ-2025 को कुम्भ-2019 से अधिक विस्तृत क्षेत्रफल में आयोजित करने के लिए कहा है। उन्होंने रिवर फ्रंट की व्यवस्था करने के लिए कहा है।

मुख्यमंत्री ने नमामि गंगे योजना से सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि जो भी नाले अनटैप्ड है, उनको उच्च प्राथमिकता पर लेते हुए टैप्ड कराने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि प्रयोग किया हुआ एक बूंद भी पानी गंगा एवं यमुना में न जाने पाये। मुख्यमंत्री ने रिंग रोड़ बनाये जाने की कार्रवाई अनिवार्य रूप से महाकुम्भ-2025 से पहले पूर्ण कराये जाने के लिए कहा है।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने महाकुम्भ-2025 को दिव्य, भव्य, स्वच्छ एवं ग्रीन रूप में आयोजित किए जाने हेतु 2 लाख शौचालय की कार्ययोजना बनाये जाने के लिए कहा है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को माघ मेले से ही महाकुम्भ-2025 के रिहर्सल के रूप में कार्य किए जाने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने छुट्टे जानवर, कुत्ते, गोवंश, गाय, सांड़ आदि भीड़-भाड़ में न जाने पाये, इस हेतु अभी से कार्ययोजना बनाकर कार्य करने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत शवदाह गृह बनाये जाने हेतु कार्ययोजना बनाये जाने के लिए कहा है।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गंगा-यमुना रिवर फं्रट, कावंड पथ, दशाश्वमेध घाट, भारद्वाज आश्रम, अलोपशंकरी शक्तिपीठ, ललितादेवी शक्तिपीठ, त्रिवेणी मार्ग, निरंजन सिनेमा के पास एक और आरओबी बनाये जाने, कर्जन ब्रिज को पर्यटन के रूप में विकसित करने, गंगा नदी में कड़ा से प्रयागराज तक के सिल्ट सफाई के कार्य सहित अन्य कार्यों को कराये जाने के बारे में अपने सुझाव दिए। उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने भीड़ प्रबंधन की अच्छी व्यवस्था, टेंट एवं खाने की ऑनलाइन व्यवस्था किए जाने, बुजुर्ग अपाहिजों के लिए मेला क्षेत्र से स्नान घाट तक जाने के लिए साधन की व्यवस्था के साथ-साथ साधु-महात्माओं को अच्छी सुविधा दिए जाने के सम्बंध में अपने विचार व्यक्त किए।

मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने पार्किंग की अच्छी व्यवस्था, ग्रीन कुम्भ सहित अन्य कार्यों को कराये जाने के सम्बंध में अपने विचार व्यक्त किए। मा0 मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने महाकुम्भ-2025 में 40 करोड़ आने वाले श्रद्धालुओं के मद्देनजर सभी व्यवस्थायें उसी के अनुरूप कराये जाने हेतु विभागों को प्रस्ताव बनाये जाने एवं उसके अनुरूप कार्य कराये जाने के लिए कहा है। उन्होंने पर्यटन को बढ़ावा देने, रोपवे बनाये जाने सहित अन्य सुझाव दिए।

मण्डलायुक्त विजय विश्वास पंत, जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री, मेलाधिकारी विजय किरण आनंद व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भी महाकुम्भ-2025 यूनिक, अविस्मर्णीय, ग्रीन, दिव्य एवं भव्य रूप से आयोजित किए जाने के सम्बंध में की जा रही कार्रवाईयों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.