National Wheels

राजस्थान में 1200 के पार हुए कोरोना के एक्टिव केस, कल आए 134 नए मामले


Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना संक्रमण की दर लगातार बढ़ती जा रही है. प्रदेश में कुल एक्टिव संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1212 हो गई. वही मंगलवार को यहां कोविड-19 के 134 नए केस दर्ज किए गए हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण से 89 मरीज ठीक भी हुए हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर चिंता व्यक्त की है. 

1212 हुए एक्टिव मरीज
राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी किए गए आंकड़ों में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है. प्रदेश में कोरोना संक्रमण एक्टिव केसेस का आंकड़ा 1212 पहुंच चुका है. राजस्थान के 33 में से 27 जिलों में कोरोना संक्रमित एक्टिव मरीज मौजूद हैं. कोरोना वायरस संक्रमण का ज्यादा खतरा जयपुर, जोधपुर ,बीकानेर और अजमेर में बना हुआ है. यहां पर संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है.

यहां आए इतने मरीज
संक्रमित मरीजों में हल्के लक्षण पाए जा रहे हैं, जिसके चलते संक्रमित मरीज ठीक हो रहे हैं. मंगलवार को जयपुर में 69, जोधपुर में 23, बीकानेर में 10, उदयपुर में 12, भीलवाड़ा में 6 और अजमेर तीन नए संक्रमित मरीज मिले हैं. मरीजों का उपचार चल रहा है. अब एक नजर राजस्थान के उन साथ जिलों पर जहां संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. 

इन जिलों में हैं सबसे ज्यादा एक्टिव मरीज
राजस्थान के जयपुर में 510, जोधपुर में 161, बीकानेर में 109, अजमेर में 94, उदयपुर में 46, भीलवाड़ा में 46, अलवर में 44 एक्टिव मरीज हैं. इन सात जिलों में लगातार कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है, जिससे चिंता बढ़ रही है. प्रदेश में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज व दूसरी डोज के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अभियान चलाया गया, जिसके चलते वैक्सीनेशन का कार्यक्रम पूरा हो पाया है. वहीं बूस्टर डोज को लेकर आम जनता में जागरूकता कम नजर आ रही है. इसको लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बूस्टर डोज नहीं लगवाने वालों को लेकर चिंता जताई है.

ये भी पढ़ें

Rajasthan News: राजस्थान में कोरोना के मामलों में इजाफा, सीएम अशोक गहलोत ने की बूस्टर डोज लगवाने की अपील

Rajasthan News: सीएम अशोक गहलोत ने दी सौगात, बीमा पॉलिसियों पर 7.50 लाख राज्य कर्मचारियों को मिलेगा बोनस

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.