National Wheels

मां बनने के बाद कितनी बदल गई करीना की जिंदगी, बच्चों के बाद एक्ट्रेस ने क्यों किए छोटे रोल?


Kareena Kapoor Life Secret’s Story: क्यूट सी स्माइल, दिलकश अदा, बेहद खूबसूरत चेहरा, नॉटी हरकतें और ज़ीरो साइज फिगर का ट्रेंड सेट करने वाली बी-टाउन एक्ट्रेस करीना कपूर खान का कहना है कि एक मां बनने के बाद हर एक लड़की पहले के मुताबिक ज्यादा समझदार हो जाती है, ये उन्होंने खुद एक्सपीरियंस किया है. रील लाइफ में तो बेबो ने कई तरह के रोल निभाएं हैं, लेकिन रीयल लाइफ की बात करें तो करीना ने अभी तक अपने करियर में कई तरह की फिल्में करी हैं और कई तरह के किरदार भी निभाएं हैं. लेकिन रीयल लाइफ की बात करें तो वो वाकई में एक फैमिली वूमेन हैं. ये तो सभी जानते हैं कि करीना सैफ से कितना प्यार करती हैं और उससे भी कहीं ज्यादा वो अपने दोनों बच्चों (तैमूर और जहांगीर) से दुलार करती हैं.

एक जिम्मेदार मां 
करीना का मानना है कि रीयल लाइफ में बेहतर एक्टर होने से ज्यादा वह जिम्मेदार मां रहना ज्यादा पसंद करती हैं. करीना के बेटों के नाम हैं तैमूर और जहांगीर. वह अपने दोनों बेटों से बेहद प्यार करती हैं, लेकिन जब वह किसी फिल्म की शूटिंग के लिए उनसे दूर जाती हैं तो वो अपने दोनों बच्चों को कुछ ज्यादा ही मिस करती हैं. लेकिन जब भी पॉसिबल होता है वो तैमूर और जहांगीर को अपने साथ शूटिंग पर ले जाती हैं.  

तैमूर और जहांगीर हैं फेमस स्टार किड्स
फैंस के बीच सेफीना तो फेमस हैं ही, लेकिन अब इन दोनों से ज्यादा इनके दोनों बच्चे तैमूर और जहांगीर पॉपुलर हो चुक हैं. आए दिन करीना अपने दोनों बच्चों की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया साइट पर शेयर करती रहती हैं और उनके फैंस भी दोनों बेटों के लिए प्यार जाहिर करते रहते हैं.


तैमूर और जहांगीर से करती हैं बेहद प्यार
करीना कपूर खान का मानना है कि एक स्त्री के लिए उसके करियर से ज्यादा महत्व रखता है उसका मातृत्व. करीना अपने दोनों बच्चों को बहुत ज्यादा प्यार करती हैं तभी तो वह उनके बारें में बात करते थकती नहीं हैं. करीना के दिलों-दिमान में उनके बच्चे तैमूर और जहांगीर छाए रहते हैं. किसी भी चर्चा के दौरान उनके दोनों बेटों का जिक्र ना हो ऐसा हो ही नहीं सकता.

फिल्म के दौरान बच्चों से जुड़ा एक किस्सा 
यह बात है तब की जब करीना फिल्म ‘अंग्रेजी मीडियम’ में अपने रोल को लेकर चर्चा कर रहीं थीं और उन्होंने इस फिल्म के दौरान  सेट पर हुए एक किस्से को शेयर किया. उन्होंने बताया कि बच्चे होने के बाद उन्होंने कई फिल्मों में छोटे रोल किए हैं, क्योंकि रीयल लाइफ में उनके लिए एक एक्ट्रेस से ज्यादा उनका मातृत्व मायने रखता है. करीना का मानना है कि कई फिल्मों में भले ही उनका छोटा रोल चल जाता हो लेकिन रीयल लाइफ में उनके लिए मां और बीवी का रोल कहीं ज्यादा मायने रखता है. यह वाक्या है फिल्म अंग्रेजी मीडियम के दौरान का जब करीना फिल्म की शूटिंग के दौरान लंदन में थी. वहीं लंदन में सैफ भी फिल्म ‘जवानी जानेमन’ की शूटिंग कर रहे थे. उस समय उनका छोटा बेटा जहांगीर उन्हीं के साथ वहां पर मौजूद था. करीना ने कहां कि इस फिल्म में उनके को-स्टार, इरफान खान, डोबरियाल और एक्ट्रेस डिम्पल कपाड़िया, जिन्हें करीना आंटी कहती हैं, वो भी वहां पर मौजूद थीं. इन सभी स्टार्स से करीना काफी इंप्रेस रही हैं. इसलिए करीना जब फिल्म की शूटिंग में जातीं तो अपने बेटे जहांगीर को अपने साथ ही ले जाया करती थीं, ताकि फिल्म की शूटिंग भी हो जाए और वक्त मिलने पर वह जहांगीर का ध्यान भी रख लें.

करीना ने कहा कि इस तरह से उन्होंने फिल्म के सेट पर तीन रोल निभाए एक मां होने का फर्ज, बीवी होने का धर्म और एक एक्ट्रेस होने का कर्म. इस तरह से उन्होंने फिल्म के दौरान अपनी पर्सनल और प्रोफेश्नल लाइफ दोनों को निभाया और खूब इंज्वॉय किया. करीना ने बताया कि उन्होंने इस फिल्म के दौरान कई ऐसी बातें सीखीं जो उनकी पर्सनल लाइफ में उनके लिए फायदेमंद साबित हुईं.

जब शूटिंग के दौरान होती हैं बच्चों से दूर
करीना कहती हैं जब कभी वह मजबूरी में अपने बेटों से दूर रह जाती हैं तो वह छटपटाहट महसूस करने लगती हैं. वैसे करीना और सैफ की कोशिश रहती है कि जब भी वह शूटिंग के लिए कहीं मुंबई से बाहर जाएं तो उस वक्त दोनों में से एक बच्चों के साथ ही रहे. वह कहती हैं कि जब भी शूटिंग के चार-पांच दिन बाद वह घर वापस लौटती हैं तो वह अपने बच्चो की आंख में पढ़ लेती हैं कि उनके बच्चो ने उन्हें कितना मिस किया. वह दोनों ही उन्हें देखकर कसकर गले लग जाते हैं और उनसे चिपक जाते हैं. जिंदगी में एक औरत कई रोल्स निभाती है एक मां, पत्नी, दादी, बहन, एक्ट्रेस लेकिन एक स्त्री बस स्त्री होती है.

जिंदगी का तालमेल
करीना की लाइफ में शाहिद के बाद किसी का नाम जुड़ा तो वह है सैफ अली खान. सैफ से उनका नाम अब इस कदर जुड़ गया है कि वह हमेशा-हमेशा के लिए एकदूजे के हो गए हैं. इन दोनों की ऑनस्क्रिन और ऑफस्क्रीन बॉन्डिंग वाकई में काबिले तारीफ है. करीना का कहना है कि सैफ उनके किसी भी फिल्म के डिसिजन को लेकर कभी भी दखलअंदाजी नहीं करते हैं. वह बस एक ही बात उनसे पूछते है कि ‘आर यू फील गुड ना’. बस इतना ही. सैफ अपने काम से काम रखते हैं और करीना भी बिल्कुल ऐसा ही करती हैं. हां कभी-कभी वह सैफ को मजाक में पिन जरूर करती रहती हैं. यह एक-दूसरे के लिए भरोसे करने की बात है बस.

फैंस का प्यार
करीना कपूर खान का कहना है कि वह लकी हैं कि उनके फैंस उन्हें इतना प्यार करते हैं. क्योंकि बिना ज्यादा मेहनत के उनके फैंस ने उन्हें ‘द दीवा’ इमेज वाला टैग जो दे दिया है. करीना को उनके इस टैग की तरह फिल्मों में रोल भी उनके पसंद के मिलते रहते हैं. उनकी शुरूआत भले ही सीधे सादे रोल से हुई हो, लेकिन अब उनकी फिल्मों की जर्नी को देखें तो उनका काम आज किसी से कम नहीं है.

करीना का कहना है कि जहां फिल्म रिफ्यूजी में एक ओर उनकी भूमिका परिपक्व थी तो दूसरी ओर वही रोल ग्लैमरस भी था. उन्होंने अबतक अपनी फिल्मों में जो भी रोल किए वह सभी ग्लैमरस रोल्स ही रहे हैं. वह मानती हैं कि ये उनका लक है कि लोग उन्हें कॉमर्शियल और स्पेशल सिनेमा की ही कलाकार मानते हैं. उनकी हर फिल्म उनके लिए कुछ बेहतर ऑप्शन लाती है.

‘पू’ का किरदार है पसंद
करीना के करियर की शुरूआत 2000 में आई फिल्म ‘रिफ्यूजी’ से हुई, इस फिल्म में करीना ने एक सीधी सादी लड़की का रोल प्ले किया. इस रोल में करीना बेहद खूबसूरत तो दिखी हीं इसके साथ ही अपनी इस पहली फिल्म से उन्होंने अपनी एक्टिंग से लोगों के दिलों में खास जगह भी बना ली. वो दिन है और आज का दिन है करीना ने एक से एक बेहतर फिल्में कीं और आगे भी यूं ही लोगों का मनोरंजन करती रहेंगी. उनका कहना है कि रिफ्यूजी के बाद उन्होंने कई तरह के रोल करें. करीना को फिल्म ‘कभी खुशी कभी गम’ में उनका पू का किरदार बेहद पसंद है. ये रोल लोगों से ज्यादा खुद करीना की पहली पसंद रहा है. फिल्म में ‘पू’ की स्टाइल उनकी खुद की पसंद थी.



administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.