National Wheels

भारत को मिला पहला स्वदेशी युद्धपोत, नौसेना ने गुलामी का प्रतीक झंडा भी हटाया

भारत को मिला पहला स्वदेशी युद्धपोत, नौसेना ने गुलामी का प्रतीक झंडा भी हटाया

दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोच्चि में भारत को गर्व के पलों भर दिया। प्रधानमंत्री ने पहले स्वदेशी युद्धपोत विक्रांत को राष्ट्र को समर्पित किया। इसके बाद गुलामी के प्रतीक नौसेना के झंडे का भारतीयकरण किया। पीएम ने नया ध्वज नौसेना को समर्पित किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विक्रांत विशाल है, विराट है, विहंगम है। विक्रांत विशिष्ट है, विक्रांत विशेष भी है। विक्रांत केवल एक युद्धपोत नहीं है। ये 21वीं सदी के भारत के परिश्रम, प्रतिभा, प्रभाव और प्रतिबद्धता का प्रमाण है।

कहा कि आज 2 सितंबर, 2022 की ऐतिहासिक तारीख को, इतिहास बदलने वाला एक और काम हुआ है। आज भारत ने, गुलामी के एक निशान, गुलामी के एक बोझ को अपने सीने से उतार दिया है। आज से भारतीय नौसेना को एक नया ध्वज मिला है।

 

पीएम मोदी ने कहा कि अभी तक इस तरह के एयरक्राफ्ट कैरियर केवल विकसित देश ही बनाते थे। आज भारत इस लीग में शामिल होकर विकसित राष्ट्र की दिशा में एक और कदम बढ़ा दिया है।

प्रधानमंत्री @narendramodi, कोचीन, केरल में हुए समारोह में कहा कि INS विक्रांत के हर भाग की अपनी एक खूबी है, एक ताकत है, अपनी एक विकासयात्रा भी है। ये स्वदेशी सामर्थ्य, स्वदेशी संसाधन और स्वदेशी कौशल का प्रतीक है। इसके एयरबेस में जो स्टील लगी है, वो स्टील भी स्वदेशी है।

विक्रांत जब हमारे समुद्री क्षेत्र की सुरक्षा के लिए उतरेगा, तो उस पर नौसेना की अनेक महिला सैनिक भी तैनात रहेंगी।

समंदर की अथाह शक्ति के साथ असीम महिला शक्ति, ये नए भारत की बुलंद पहचान बन रही है।

 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.