National Wheels

भारत की पहली समुद्री टनल के लिए बिड जारी, बुलेट ट्रेन परियोजना का है हिस्सा

भारत की पहली समुद्री टनल के लिए बिड जारी, बुलेट ट्रेन परियोजना का है हिस्सा

समुद्र में भारत की पहली टनल बनाने के लिए एनएचआरसील ने टेंडर ऑफर मांगा है। यह टनल मुंबई- अहमदाबाद हाईस्पीड बुलेट ट्रेन परियोजना के तहत महाराष्ट्र में बनेगी। टनल समुद्र के अंदर करीब सात किलोमीटर लंबाई में होगी, जो बांद्रा कुर्ला काम्प्लेक्स और सिलफाटा भूमिगत रेलवे स्टेशनों के बीच बनेगी। टनल दो ट्रेनों क अगल-बगल गुजरने के लिए बनाई जाएगी। इसकी कुल लंबाई करीब 21 किलोमीटर होगी। इसे न्यू आस्ट्रिया टनलिंग मेथेड से बनाया जाएगा।

रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड बुलेट ट्रेन परियोजना के तहत बनने वाली इस टनल के बिड जारी किए जाने की जानकारी ट्विट कर दी थी। बिड 23 सितंबर को जारी कर दी गई है। 20 जनवरी 2023 को पैकेज- दो की बिड खोली जाएगी, जिसके बाद यह तय होगा इस टनल का निर्माण दुनिया की कौन सी कंपनी करेगी? रेल मंत्री ने कहा है कि भारत के पहले समुद्र के नीचे बनने वाली टनल के लिए बिड जारी कर दी गई है। इसका निर्माण बुलेट ट्रेन के लिए महाराष्ट्र में किया जाएगा।

रेल मंत्रालय ने कहा है कि ठाढ़े क्रीक में समुद्र के नीचे सात किमी लंबी टनल बनेगी। शेष टनल जमीन के नीचे होगी। बुलेट ट्रेन के लिए महाराष्ट्र के बांद्रा-कुर्ला काम्प्लेक्स के भूमिगत स्टेशन से सिलफाटा के बीच बनाई जाएगी। मंत्रालय ने कहा है कि C1 पैकेज के लिए बिड जमा करने की अंतिम तारीख 20 अक्टूबर 2022 है और C2 पैकेज के लिए बिड जमा करने की अंतिम तिथि 19 जनवरी 2023 है।

उधर, गुजरात में हाईस्पीड बुलेट ट्रेन मार्ग का निर्माण भी बुलेट रफ्तार पकड़ चुका है। पिलर का कार्य करीब 80 किलोमीटर से अधिक पूरा हो चुका है। पिलर के ऊपर डेक रखने कार्य भी करीब पांच किलोमीटर तक पहुंचने वाला है। निर्माण में अत्याधुनिक मशीनों के इस्तेमाल से कार्य की गति तेज है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.