National Wheels

भाजपा सांसद अरुण सागर फरार घोषित, बार-बार समन पर भी अदालत में नहीं हुए पेश

भाजपा सांसद अरुण सागर फरार घोषित, बार-बार समन पर भी अदालत में नहीं हुए पेश

शाहजहांपुर:  जिले की विशेष एमपी/एमएलए अदालत ने चुनाव प्रचार सामग्री जब्त किये जाने के एक मामले में अदालत में पेश नहीं होने पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद अरुण सागर को फरार घोषित कर दिया है।

शाहजहांपुर में बीजेपी सांसद अरुण सागर अदालत से फरार घोषित किए गए हैं। वर्ष 2019 में चुनाव आचार संहिता के उलंघन में अरुण सागर के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। इस मामले में अरुण सागर कोर्ट की तारीखों पर हाजिर नहीं हुए थे। इसी वजह से सांसद के खिलाफ शाहजहांपुर की एमपी एमएलए कोर्ट ने सीआरपीसी की धारा 82 के तहत कार्रवाई करते हुए उन्हें फरार घोषित किया है। कोर्ट की अगली तारीख 21 दिसंबर है।

कोर्ट ने आदेश दिए है कि सांसद के आवास के आस-पास फरार होने का नोटिस चस्पा किया जाएगा। इसके साथ ही बीजेपी सांसद अरुण सागर के खिलाफ गैर-जमानती वारंट भी जारी हुआ है।

यह सामान्य प्रक्रिया है- शासकीय अधिवक्ता

इस मामले में इस मामले में शासकीय अधिवक्ता नीलिमा सक्सेना का कहना है कि सांसद के ऊपर 2019 से 171 एचआईपीसी और 127 A लोकप्रतिनिधि अधिनियम का केस चल रहा है।

यह न्यायालय की सामान्य प्रक्रिया है, इससे पहले सांसद अरुण सागर के खिलाफ एनबीडब्ल्यू चल रहा था जब वह न्यायालय में नहीं उपस्थित हुए, तब सीआरपीसी की धारा 82 के तहत उन पर कार्रवाई की गई है। उन्हें फरार घोषित कर दिया गया है। अगर वह इसके बाद भी उपस्थित नहीं होते हैं, तो धारा 83 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

यह था पूरा मामला

लोकसभा चुनाव के दौरान 12 मार्च 2019 को तत्कालीन उप जिलाधिकारी सदर सहायक रिटर्निंग ऑफिसर 136 ददरौल विधानसभा क्षेत्र ददरौल वेद सिंह चौहान भ्रमण कर रहे थे, तब भाजपा प्रत्याशी रहे अरुण कुमार सागर की गाड़ी में अवैध सामग्री दिखाई दी और 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान बगैर अनुमति के प्रचार सामग्री लगाने पर यह मामला दर्ज हुआ था।

आरोप है कि बिना किसी सक्षम अधिकारी की अनुमति के यह प्रचार सामग्री लगाई जा रही थी। चुनाव अधिकारी की तहरीर पर कांट थाने में अभियोग पंजीकृत करने के बाद यह मुकदमा एमपी एमएलए कोर्ट में चल रहा है, जहां अरुण कुमार सागर के घर पर फरार होने के फोटो चस्पा कराने के आदेश जारी किए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.