National Wheels

भगवान बिरसा मुंडा एवं जनजाति समाज को सही सम्मान भाजपा शासन में मिला – संजय पाठक

भगवान बिरसा मुंडा एवं जनजाति समाज को सही सम्मान भाजपा शासन में मिला – संजय पाठक

बरही में आयोजित हुआ जनजातीय गौरव दिवस समारोह। खितौली त्रिगड्डे पर भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा स्थापित होगी।

कटनी। विजयराघवगढ़ विधानसभा के बरही में बिरसा मुंडा जयंती पर जनजातीय समाज के संगठनों द्वारा संयुक्त रूप से जनजातीय गौरव दिवस पर अनुसूचित जनजातीय महाकुंभ का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में जनजाति वर्ग के लगभग 40 हजार भाई बहनों की उपस्थिति में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक संजय सत्येन्द्र पाठक रहे। इस दौरान आदिवासी संस्कृति के लोक संगीत नृत्य, नाट्य, गायन-वादन के तहत विभिन्न प्रकार के लोकगीत, आदिवासी नृत्य, कर्मा जैसे क्षेत्रीय लोक कला व सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन दिन भर चलता रहा जिससे विद्यायक संजय पाठक ने भी कलाकारों के साथ मृदंग लेकर नृत्य किया इस दौरान डिडोरी, मंडला,दमोह, उमरिया ,कटनी की टीमों में अपनी प्रस्तुति दी। आदिवासी समाज के प्रमुख वक्ताओं ने आयोजन एवं समाज के इस वृहद आयोजन पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक संजय पाठक ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ईश्वर के भेजे हुए दूत है। उन्होंने जनजाति समाज की भावनाओं भगवान बिरसा मुंडा की जयंती जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मानने का फैसला लिया। इसी कड़ी में हमारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी बिरसा मुंडा जयंती को जनजातीय गौरव दिवस एवं शासकीय अवकाश के रूप मेंमानने का फैसला लिया। इस क्षेत्र का प्रधान सेवक होने के नाते आपका वंदन अभिनंदन करता हूं, बरही के स्टेशन रोड पर खितौली त्रिगड्डे पर भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा स्थापित कराने का निर्णय लिया है। जल्द भगवान बिरसा मुंडा की भव्य प्रतिमा स्थापित होगी।

‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास’ के संकल्प को लेकर आगे बढ़ रही भाजपा की मोदी सरकार एवं शिवराज सिंह सरकार ने अपने निर्णयों एवं नीतियों में जनजातीय समुदाय के सभी वर्गों की आशाओं एवं आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए तमाम दूरदर्शी कदम उठाए हैं। गरीब हो या जनजातीय समाज हो हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर पल सेवा की है। द्रौपदी मुर्मू जी का राष्ट्रपति निर्वाचित होना भारतीय लोकतंत्र के लिए एक ऐतिहासिक अवसर है।अत्यंत गरीब पृष्ठभूमि से निकल कर सर्वोच्च पद तक पहुंचना देशवासियों के साथ-साथ जनजातीय समाज के लिए भी गौरव का क्षण है। ये कार्य सिर्फ भाजपा ही कर सकती है।

स्वतंत्रता आंदोलन में आदिवासी समाज का योगदान

स्वतंत्रता आंदोलन में आदिवासी समाज का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। स्वतंत्र भारत में सरकारों ने लंबे समय तक जनजातीय समाज विकास की मुख्यधारा से जोड़ने एवं उनके सामाजिक-आर्थिक उत्थान और राजनीतिक प्रतिनिधित्व के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं किए। आप सभी जनजाति भाइयों से आग्रह है अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दें, जिससे आपके बच्चें जीवन में तरक्की करते हुए ऊंचे स्थान पर पहुंचे। मेरा जन्म भी भट्टा मोहल्ला में कोल आदिवासी समाज के बीच हुआ है जिनके बीच पैदा हुआ, पला बढ़ा,खेला उनके जीवन की कठिनाइयों को जानता हूं,जब तक मेरे पास जीवन है सामर्थ है मैं गरीबों की सेवा करता रहूं ये ही आप आशीर्वाद दीजिए ।इस सफल आयोजन के लिए पूरी टीम को बधाई देता हूं। भाजपा सरकार जनजातीय समाज के विकास और सम्मान के लिए मन, वचन और कर्म के साथ हर प्रकार से जुटी हुई है। मैने भी सम्पूर्ण विजयराघवगढ़ एवं आसपास क्षेत्र के जनजातीय समाज के भाइयों के उत्थान, गरिमापूर्ण जीवन, सामाजिक एवं आर्थिक विकास और उनकी राजनीतिक भागीदारी सुनिश्चित करने में सहयोग किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.