National Wheels

प्रहार के बाद #PFI पर प्रतिबंध, ये सहयोगी संगठन भी प्रतिबंधित

प्रहार के बाद #PFI पर प्रतिबंध, ये सहयोगी संगठन भी प्रतिबंधित

राष्ट्र विरोधी गतिविधियों और सांप्रदायिक माहौल को खराब करने में शामिल रही पापुलर फ्रंट आफ इंडिया, जिसे लोग पीएफआई के नाम से जानते है, को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने प्रतिबंधित कर दिया है। इसके साथ ही पीएफआई के कई सहयोगी संगठनों को भी प्रतिबंधित किया गया है। इसमें अरब देशों से सामाजिक और धार्मिक गतिविधियों के नाम पर पीएफआई के लिए धन का इंतजाम करने वाले राहेब इंडिया फाउंडेशन को भी गैर कानूनी संगठन घोषित किया गया है। इन संगठनों पर पांच वर्ष के लिए रोक लगाई गई है।

प्रबंध किए गए संगठनों में केंपस फ्रंट ऑफ इंडिया, ऑल इंडिया इमाम काउंसिल और नेशनल कनफेडशन आफ हुमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन, नेशनल वूमेन फ्रंट, जूनियर फ्रंट, इंपाॅवर इंडिया फाउंडेशन और रेहाब फाउंडेशन, केरल को भी प्रतिबंधित किया गया है।

पिछले एक सप्ताह से राष्ट्रीय स्तर पर एनआईए, ईडी समेत कई संगठनों की चल रही ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इन संगठनों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। आरोप है कि 2006 में सिमी पर प्रतिबंध लगने के बाद उसके कार्यकर्ताओं ने ही पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के नाम से नया संगठन खड़ा कर लिया। पीएफआई की गतिविधियां भी लगभग वैसी ही है, जैसी सिमी की थीं। सिमी पर देश के अलग-अलग हिस्सों में विस्फोट कराने के आरोप लगे थे, जिनमें दर्जनों लोगों की मौत हुई थी। पीएफआई भी एनआरसी के खिलाफ हुए प्रदर्शन, दिल्ली और कर्नाटक दंगा समेत कई जगहों पर सांप्रदायिक माहौल को खराब करने और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल रहा है। केरल में पीएफआई के तमाम कार्यकर्ता आईएसआईएस के संपर्क में भी बताए जाते रहे हैं। विदेशी इस्लामिक आतंकवादी संगठनों से पीएफआई और उसके संगठनों के सहयोग की बातें सामने आती रही हैं।

एनआईए ने पिछले दिनों राज्य पुलिस संगठनों और आतंकवाद विरोधी दस्तों के साथ छापे मारकर 106 लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद लगातार गिरफ्तारियां चल रही हैं। मंगलवार को भी उत्तर प्रदेश के 26 जिलों में छापेमारी कर 57 लोग हिरासत में लिए गए हैं। इसमें अलीगढ़ में एसटीएफ ने पीएफआई की राजनीतिक विंग के प्रदेश अध्यक्ष निजामुद्दीन को गिरफ्तार किया है।

पहले से पीएफआई के खिलाफ 14 मामलों की जांच कर रही है और 355 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर चुकी है। ईडी ने मनी लांड्रिंग के केस दर्ज किए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.