National Wheels

प्रयागराज के सीओ/एसीपी फूलपुर का गजब कारनामा

प्रयागराज के सीओ/एसीपी फूलपुर का गजब कारनामा

सौरभ सिंह सोमवंशी, लखनऊ 

मामले में क्षेत्राधिकारी फूलपुर का पक्ष जानने के लिए जब उनको फोन किया गया तो उनका फोन नहीं उठा।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार प्रदेश की कानून व्यवस्था में सुधार का प्रयास कर रहे हैं। परंतु प्रदेश के ही प्रयागराज स्थित फूलपुर से एक ऐसी खबर है ,जहां पर प्रयागराज के फूलपुर सर्किल के क्षेत्राधिकारी मनोज कुमार सिंह के ऊपर आरोप है। कि उन्होंने एक प्रार्थना पत्र जो उनको डाक से भेजा गया था। उसको उन्होंने लेने से मना कर दिया इस तरह के मनबढ अधिकारी यदि रहेंगे तो यह प्रश्न मौजूं हो जाता है की उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था कैसे सुधरेगी?
सदैव पुलिस के ऊपर आरोप लगता रहता है कि वह लोगों के साथ अभद्रता करती है। इसीलिए बहुत लोग डाक के माध्यम से अपना प्रार्थना पत्र भेजते हैं। परंतु जब एक जिम्मेदार पद पर बैठा हुआ अधिकारी ही डाकिया से कहे कि लिख दो कि “लेने से मना किया” इससे स्पष्ट रूप से पता चलता है की उस अधिकारी अर्थात फूलपुर के सीओ मनोज कुमार सिंह को किसी चीज का डर नहीं है।

मामला यह है कि प्रयागराज स्थित फूलपुर सर्किल के सराय इनायत थाने में 2 साल पहले पत्रकार अजय विश्वकर्मा व इरफान खान के साथ मारपीट की गई थी जिसमें तत्कालीन थाना अध्यक्ष संजय द्विवेदी व आकाश कुमार राय एसआई व अन्य के ऊपर आरोप लगाया गया था। मामले की जांच चल रही थी तभी मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंच गया। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कुछ दिनों पहले अजय कुमार विश्वकर्मा की सुरक्षा के लिए आदेश दिया था ।
परंतु प्रयागराज पुलिस हीला हवाली करती रही करीब एक महीने पहले अजय कुमार विश्वकर्मा के ऊपर जानलेवा हमला किया गया जिसमें उसको तमाम चोटें आई वह अस्पताल में भर्ती था इसी दौरान उसने फूलपुर सीओ को अपनी समस्या बताने का प्रयास किया तब क्षेत्राधिकारी ने उसका फोन यह कह कर काट दिया कि ऑफिस में बैठकर बात होगी ।
जबकि उसने अपनी समस्या बताने के लिए उनको फोन किया था इसी बीच जब अजय कुमार विश्वकर्मा ने एक प्रार्थना पत्र फूलपुर के सीओ मनोज कुमार सिंह के कार्यालय को भेजा तब मनोज कुमार सिंह उस पत्र को लेने से मना कर दिए मनोज कुमार सिंह पता नहीं किस प्रभाव में हैं।
मामले में स्पष्ट जानकारी लेने के लिए जब फूलपुर क्षेत्राधिकारी मनोज कुमार सिंह के सीयूजी नंबर पर संपर्क किया गया तो करीब 10 बार फोन मिलाने के बावजूद उनका फोन नहीं रिसीव हुआ।

दूसरी तरफ अजय विश्वकर्मा का कहना है की पुलिस महकमे के तमाम अधिकारी उससे कह रहे हैं कि एस आई आकाश कुमार राय और इंस्पेक्टर संजय द्विवेदी से समझौता कर लो परंतु वह तैयार नहीं है।
तमाम पुलिस अधिकारियों ने उससे यह भी कहा कि तुम अधिक दिन तक लड़ाई नहीं लड़ पाओगे दूसरी तरफ पत्रकार अजय विश्वकर्मा समेत अरविंद सिंह बिसेन, दिवाकर केसरवानी, राजेश्वर यादव व अनिल कुमार पटेल आदि ने सीओ मनोज कुमार सिंह पर कार्यवाही अजय कुमार विश्वकर्मा की सुरक्षा हेतु गुहार लगाई है।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.