National Wheels

प्रयागराज, आगरा और गाजियाबाद में भी पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली मंजूर

प्रयागराज, आगरा और गाजियाबाद में भी पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली मंजूर

लखनऊ  : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए शुक्रवार को एक और बड़ा फैसला किया है। प्रदेश के प्रयागराज, आगरा और कानपुर में भी पुलिस कमिश्नर प्रणाली को लागू करने की मंजूरी दे दी गई है। इसके साथ ही अब उत्तर प्रदेश में कुल 7 शहरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हो जाएगी।

यूपी में लखनऊ, नोएडा के बाद कानपुर और वाराणसी में पहले से ही पुलिस कमिश्नर प्रणाली है। पिछले दिनों कैबिनेट ने तीनों जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों के की थानों को भी पुलिस कमिश्नर प्रणाली में शामिल कर लिया था।

तीनों शहरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली को सफलता के साथ लागू करने के बाद योगी सरकार ने प्रयागराज, आगरा और गाजियाबाद में भी पुलिस कमिश्नर प्रणाली को लागू करने का फैसला किया है। नई व्यवस्था में आईपीएस अफसरों के हाथ कानून व्यवस्था को संभालने के तमाम ऐसे अधिकार भी लग जाएंगे जो अभी प्रशासनिक अफसरों के हाथ में हैं। आईपीएस पुलिस अफसरों की संख्या में भी इजाफा होगा।

गौरतलब है कि 2020 में लखनऊ में सुजीत पांडे और नोएडा में आलोक सिंह को पहला पुलिस कमिश्नर बनाया गया था। 26 मार्च 2021 को दूसरे चरण में कानपुर और वाराणसी में पुलिस ककमिश्नरप्रणाली लागू हुई थी।

कानपुर में विजय सिंह मीणा और वाराणसी में ए सतीश गणेश को पुलिस कमिश्नर बनाया गया था। उम्मीद है कि तीनों शहरों के लिए जल्द ही पुलिस कमिश्नर की नियुक्ति की जाएगी। इसके साथ ही नए पदों के सृजन और कितने पुलिस थानें इस प्रणाली का हिस्सा बनेंगे, इसकी अधिसूचना भी जल्द जारी की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.