National Wheels

प्रमाण आधारित चिकित्सा पर विकसित होगा आयुर्वेद

प्रमाण आधारित चिकित्सा पर विकसित होगा आयुर्वेद

प्रयागराज : धन्वंतरि जयंती पर आरोग्य भारती के समारोह में शनिवार को आयुर्वेद के भूत और भविष्य पर चर्चा हुई। एलोपैथ में कार्य कर रहे शहर के प्रतिष्ठित चिकित्सकों के साथ ही मुख्य अतिथि अपर जिला जज मनीष निगम ने आयुर्वेद में प्रमाण आधारित चिकित्सा के विकास पर जोर दिया। काशी प्रांत, प्रयाग के विभाग संयोजक व प्रयागराज के प्रसिद्ध वैद्य शशिकांत राय ने आयुर्वेद के महत्व और गुणों पर प्रकाश डाला। कहा, कोरोना महामारी के दौरान सभी ने आयुर्वेद के प्रभाव और परिणामों को देखा है। वर्तमान केंद्र सरकार निरंतर आयुर्वेद को वैश्विक स्वरूप प्रदान करने की दिशा में काम कर रही है।

वशिष्ट एवं वात्सल्य पब्लिक स्कूल , सिविल लाइंस परिसर में हुए समारोह में मुख्य अतिथि अपर जिला जज मनीष निगम ने कहा कि कोविड काल और वर्तमान में फैले डेंगू के दौरान आयुर्वेद के प्रभाव से हर कोई अच्छे से परिचित हुआ। आयुर्वेद घर-घर फैला हुआ है। कोई भी चिकित्सा पैथी अकेले काम नहीं कर सकती। सभी पैथियों में जो भी अच्छा है, उसे आगे बढ़ाएं। उन्होंने आरोग्य भारती की भी सराहना की।

गेस्ट्रो चिकित्सक डाॅ आलोक मिश्रा ने साइंटिफिक और प्रमाण आधारित आयुर्वेद पर जोर दिया। प्रयाग महानगर अध्यक्ष व नेरो सर्जन डाॅ प्रकाश खेतान ने आरोग्य भारती व उसके प्रकल्पों की जानकारी दी। एमएनएनआईटी के डीन एकेडमिक प्रोफेसर एके मिश्रा ने नई शिक्षा नीति में शामिल किए विचारों और अवधारणाओं पर प्रकाश डाला।

इसके पहले, सर्वप्रथम स्कूल के छात्रों द्वारा विविध विषयों पर रंगोली बनाई गई, जिसे सभी ने सराहा। विजेता बच्चों को सम्मानित भी किया गया। फिर, धन्वन्तरि पूजन, चिकित्सा सम्मान से वैद्य आशुतोष मालवीय और सामाजिक सम्मान से नागेंद्र और आलोक मिश्रा शाल ओढ़ाकर सम्मानित भी किए गए। इस दौरान अभय सिंह सह सचिव , महानगर आरोग्य भारती, दीप्ति योगेश्वर, आदर्श बाजपेयी, प्रज्ञा मालवीय, उमेश शर्मा और नागेंद्र भी मौजूद रहे। संचालन संतोष गुप्ता ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.