National Wheels

प्रतिदिन एक लाख यात्रियों की क्षमता वाला हो जाएगा अयोध्या स्टेशन

प्रतिदिन एक लाख यात्रियों की क्षमता वाला हो जाएगा अयोध्या स्टेशन

अयोध्या : श्रीराम मंदिर निर्माण के साथ ही रेलवे भी तेजी से खुद को नई चुनौतियों और यात्रियों की भारी भीड़ के लिए खड़ा कर रहा है। दोनों फेज के काम पूरा होने के बाद अयोध्या रेलवे स्टेशन पीक डेज में प्रतिदिन एक लाख यात्रियों की क्षमता वाला हो जाएगा। मौजूदा वर्ष के अंत तक 25 हजार यात्रियों की क्षमता के लिए तैयार हो जाएगा। ऐसा भी कह सकते हैं कि मुख्य भवन, वातानुकूलित प्रतीक्षालय, कानकोर्स एरिया, फूड कोर्ट, स्वचालित सीढियां, दो फुटओवरब्रिज, डोरमेट्री, सर्कुलेटिंग एरिया आदि के निर्माण का अधिकांश कार्य पूरा हो चुका है।

दो दिन पहले उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने अयोध्या रेलवे स्टेशन न का निरीक्षण किया और तैयारियों को परखा भी। अयोध्या रेलवे स्टेशन को राम मंदिर निर्माण के साथ तैयार किया जा रहा है। स्टेशन को भी मंदिर आकार दिया जा रहा है, जिससे यात्रियों को धर्म स्थल के होने का अहसास हो सके। स्टेशन के निकास द्वार को भी बड़ा और भव्य बनाया जाना है। वर्तमान में स्टेशन के दक्षिणी हिस्से से निकासद्वार संकरा है। नव विकास में मुख्य प्रवेशद्वार स्टेशन के उत्तरी हिस्से में दूसरे चरण में बनना है। इसमें पार्किंग आदि के लिए जमीन अधिग्रहण होना है। यह कार्य 2023 अंत तक पूरा होगा।

पुराने स्टेशन पर केवल तीन प्लेटफार्म थे। नवविकसित स्टेशन पर प्लेटफॉर्म की संख्या भी बढ़ेगी। इस स्टेशन से वर्तमान में ट्रेनों की शुरुआत नहीं होती है। भविष्य में दक्षिण भारत और देश के दूसरे हिस्सों से नही ट्रेनों का संचालन भी होगा।

रेलवे लखनऊ, गोरखपुर और प्रयागराज से अयोध्या तक रेल विद्युतीकरण का कार्य पूरा चुकी है। बाराबंकी से अयोध्या कैंट तक रेलमार्ग दोहरीकरण का कार्य भी शुरू हो चुका है। दिसंबर 2023 तक इसके पूरा होने की संभावना है। अयोध्या कैंट से जौनपुर तक रेलमार्ग दोहरीकरण को भी जल्द शुरू होने की संभावना है।

दूसरी ओर रेलवे स्टेशन के आसपास स्थानीय कारोबार के विकास की भी उम्मीद है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.