National Wheels

पीएम मोदी जापान के बड़े बिजनेस टाइकूंस से भी मिले

पीएम मोदी जापान के बड़े बिजनेस टाइकूंस से भी मिले

पीएम मोदी क्वाड बैठक में हिस्सा लेने के लिए जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा के आमंत्रण पर 23-24 मई, 2022 तक टोक्यो के दौरे पर हैं। इस दौरान सोमवार को पीएम मोदी ने जापान के कई बड़े बिजनेस टाइकूंस से मुलाकात की। माना जा रहा है कि आगामी दिनों में जापान के बड़े बिजनेस टाइकूंस और पीएम मोदी के बीच हुई ये मुलाकात भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास के लिहाज से बड़ी हितकारी साबित होगी।

फास्ट रिटेलिंग कंपनी के चेयरमैन तदाशी यानाई से की चर्चा

इसी कड़ी में पीएम मोदी ने सोमवार को टोक्यो में यूनीक्लो की मूल कंपनी फास्ट रिटेलिंग कंपनी लिमिटेड के चेयरमैन और CEO तदाशी यानाई से मुलाकात की। प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, बैठक के दौरान उन्होंने भारत के तेजी से बढ़ते कपड़ा और परिधान बाजार और भारत में कपड़ा परियोजनाओं के लिए उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत निवेश के अवसरों पर चर्चा की। उन्होंने औद्योगिक विकास, बुनियादी ढांचे, कराधान और श्रम के क्षेत्रों सहित भारत में विदेशी निवेशकों के लिए व्यापार को सुगम बनाने के लिए किए जा रहे विभिन्न सुधारों पर भी चर्चा की। प्रधानमंत्री ने कपड़ा क्षेत्र को और मजबूत करने के उद्देश्य से यूनिक्लो को पीएम-मित्र योजना में भाग लेने के लिए भी आमंत्रित किया।

सुजुकी मोटर कॉर्पोरेशन के सलाहकार ओसामु सुजुकी से भी मिले

इसके अलावा पीएम मोदी ने टोक्यो में सुजुकी मोटर कॉरपोरेशन के वरिष्ठ सलाहकार ओसामु सुजुकी से भी मुलाकात की। विदेश मंत्रालय के मुताबिक बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने भारत में सुजुकी के सहयोग एवं योगदान को याद किया और भारत के मोटर वाहन उद्योग में सुजुकी मोटर्स की परिवर्तनकारी भूमिका की सराहना की। उन्होंने इस बात की सराहना की कि सुजुकी मोटर गुजरात प्राइवेट लिमिटेड और मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ऑटोमोबाइल एवं ऑटो कंपोनेंट सेक्टर में प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव योजना के तहत स्वीकृत आवेदकों में से थे। इस बीच उन्होंने सतत विकास के लक्ष्य को साकार करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों और बैटरी के साथ-साथ रीसाइक्लिंग केंद्रों के लिए उत्पादन सुविधाओं की स्थापना सहित भारत में निवेश के और अवसरों पर चर्चा की। उन्होंने भारत में स्थानीय नवाचार प्रणाली के निर्माण के लिए रणनीतियों पर भी चर्चा की, जिसमें जापान-भारत विनिर्माण संस्थान और जापानी संपन्न पाठ्यक्रम (जेईसी) के माध्यम से कौशल विकास शामिल हैं।

NEC कॉर्प के अध्यक्ष के साथ भारत में नए तकनीकी क्षेत्र पर की चर्चा

वहीं पीएम मोदी ने टोक्यो में एनईसी कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष नोबुहिरो एंडो से भी मुलाकात की और भारत के दूरसंचार क्षेत्र में एनईसी की भूमिका की सराहना की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर बताया कि दोनों नेताओं ने भारत में नई और उभरती प्रौद्योगिकियों के अवसरों पर भी चर्चा की। एंडो ने स्मार्ट शहरों, उभरती प्रौद्योगिकियों और भारत में जापानी सीखने को प्रोत्साहित करने के लिए एक अभिनव प्रयास जैसे क्षेत्रों में भारत में अवसरों के बारे में बात की।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री ने भारत के दूरसंचार क्षेत्र में विशेष रूप से चेन्नई-अंडमान और निकोबार द्वीप समूह (सीएएनआई) और कोच्चि-लक्षद्वीप द्वीप समूह (केएलआई) ओएफसी परियोजनाओं में एनईसी की भूमिका की सराहना की। उन्होंने प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव योजना के तहत निवेश के अवसरों पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने औद्योगिक विकास, कराधान और श्रम सहित भारत में व्यापार करना आसान बनाने के लिए किए जा रहे विभिन्न सुधारों पर चर्चा की। उन्होंने नई और उभरती प्रौद्योगिकियों में भारत में अवसरों पर भी चर्चा की।

सॉफ्टबैंक कॉरपोरेशन के बोर्ड निदेशक और संस्थापक से भी मुलाकात

पीएम मोदी ने 23 मई 2022 को टोक्यो में सॉफ्टबैंक कॉरपोरेशन के बोर्ड निदेशक और संस्थापक मासायोशी सोन के साथ भी मुलाकात की। इस दौरान पीएम मोदी ने भारत के स्टार्टअप क्षेत्र में सॉफ्टबैंक की भूमिका की प्रशंसा की। उन्होंने भारत में प्रौद्योगिकी, ऊर्जा और वित्त जैसे प्रमुख क्षेत्रों में सॉफ्टबैंक की भविष्य की भागीदारी के बारे में भी विचार-विमर्श किया। उन्होंने भारत में ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ को सक्षम बनाने के लिए किए जा रहे विभिन्न सुधारों के बारे में भी चर्चा की। केवल इतना ही नहीं, उन्‍होंने सॉफ्टबैंक के साथ ऐसे विशिष्ट प्रस्तावों को भी साझा किया, जहां वह भारत में अपने निवेश को बढ़ा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.