National Wheels

तीन वर्ष में भारत विश्व के टॉप 10 पर्यटन देशों में होगा शुमार

तीन वर्ष में भारत विश्व के टॉप 10 पर्यटन देशों में होगा शुमार

केंद्र सरकार की सोच है कि टूरिज्म की मार्केटिंग अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होनी चाहिए। इसलिए पीएम मोदी जिस भी देश का दौरा करते हैं तो वहां भारतीय टूरिज्म की बात जरूर करते हैं। अब पर्यटन मंत्रालय भी ऐसी योजना बना रहा है जिससे विदेशी पर्यटकों का रुख भारत की ओर अधिक हो। यह बात केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी कृष्णा रेड्डी ने कही है।

सभी भारतीय दूतावासों को खास आदेश

उन्होंने आगे जानकारी देते हुए कहा, इसके लिए सभी भारतीय दूतावासों को इस बारे में आदेश दिए गए हैं। केंद्र सरकार सभी दूतावासों में पर्यटक अधिकारियों की शीघ्र ही नियुक्ति करने जा रही है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि साल 2025 तक पर्यटन की दृष्टि से भारत विश्व के टॉप 10 देशों में शुमार होगा।

विश्व भर के पर्यटकों को आकर्षित करने का सुनहरा मौका

चूंकि भारत के पड़ोसी देशों में पर्यटकों को आकर्षित करने की परिस्थितियां सही नहीं हैं, ऐसे में भारत के पास एक सुनहरा मौका है कि वह विश्वभर के पर्यटकों को आकर्षित कर सके।

भारत में तीन हजार से भी अधिक हेरिटेज डेस्टिनेशन

भारत में तीन हजार से भी अधिक हेरिटेज डेस्टिनेशन हैं। यह जानकारी पर्यटकों तक पंहुचाने के लिए हर जगह कुछ अधिकारियों की जिम्मेदारी तय होनी चाहिए। सभी राज्यों में पर्यटन विकास को लेकर सकारात्मक प्रतियोगिता होनी चाहिए, तभी पर्यटन विकास संभव है।

पर्यटन युवा क्लब बनाने की जरूरत

देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिहाज से सभी शिक्षण संस्थानों में एनसीसी, एनएसएस और स्काउट्स एंड गाइड की तर्ज पर पर्यटन युवा क्लब बनाने की भी जरूरत है। वहीं एयर, रेल और रोड कनेक्टिविटी में सुधार होने से भारत में पर्यटक खासा आकर्षित हो रहे हैं। इसके साथ ही धर्मशाला में नाइट लैंडिंग की सुविधा का होना बहुत जरूरी है।

सिविल एविएशन आने वाले समय मे बड़ी चुनौती होगी

पर्यटन के दृष्टिकोण से सिविल एविएशन आने वाले समय मे बड़ी चुनौती होगी। भारत में आधुनिक सड़कों का जाल बिछ रहा है। सरकार की कोशिश है कि सभी पेट्रोल पम्पों पर आधुनिक शौचालय हों, ऐसी ही सुविधाएं अन्य क्षेत्रों में भी आवश्यक हैं।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सभी राज्य स्थानीय एवं ट्राइबल उत्सवों की मार्केटिंग सोशल मीडिया पर बेहतर तरीके से की जानी चाहिए। इससे पर्यटक आकर्षित होंगे। इसके साथ-साथ पर्यटकों को टूरिस्ट डेस्टिनेशन की सही और समस्त जानकारी होनी चाहिए।

जम्मू-कश्मीर में बड़ा पर्यटन

केंद्रीय मंत्री जी. कृष्णा रेड्डी ने कहा, फिलहाल, टूरिस्ट सेक्टर में बजट की कमी है, जिसे और अधिक बढ़ाने की जरूरत है। हालांकि एक अच्छी खबर यह भी है कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से टूरिज्म बढ़ा है। आज कश्मीर की डल लेक के पास युवा तिरंगा लेकर घूम रहे हैं। यह अपने आप में बड़ी राहत की बात है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.