National Wheels

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 में 3800 से ज्यादा खिलाड़ी दिखा रहे हुनर

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 में 3800 से ज्यादा खिलाड़ी दिखा रहे हुनर

देश में खेल की संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए खेलो इंडिया की शुरुआत की गई। इसी का परिणाम है कि आज गांव की गलियों से निकलकर खिलाड़ी विश्व स्तर पर भारत का तिरंगा लहरा रहे हैं। इसलिए खेल की संस्कृति को और आगे बढ़ाते हुए रविवार को दूसरे ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021’ का शुभारंभ किया गया।

भारत का सबसे बड़ा खेल आयोजन

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू रविवार को बेंगलुरु के श्री कांतीरवा इंडोर स्टेडियम में द्वितीय ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021’ का शुभारंभ किया। इस मौके पर कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई, राज्यपाल थावर चंद गहलोत और केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर मौजूद रहे।

कर्नाटक सरकार और भारतीय खेल प्राधिकरण के अनूठे समर्थन से जैन विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021’ भारत का सबसे बड़ा खेल आयोजन होगा और महामारी के बाद सामूहिक भागीदारी वाली ये पहली प्रतियोगिता होगी।

पारंपरिक खेलों को बढ़ावा

उद्घाटन समारोह के दौरान केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (केआईयूजी) से अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में इन्हीं खिलाड़ियों को कई अंतरराष्ट्रीय खेलों में पदक लेते हुए देखेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि देश के पारंपरिक खेलों को और बढ़ावा मिले। ताकि हमारे पारंपरिक खेल को दुनियाभर में पहचान मिल सके। इस बार खेलों में मल्लखंब और योगासन जैसे स्वदेशी खेल में शामिल किए गए हैं।

कई ओलंपियन ले रहे हिस्सा

इस बार के यूनिवर्सिटी गेम्स में देश के कई खिलाड़ी जिनमें शूटर मनु भाकर, दिव्यांश सिंह पंवार, ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, स्प्रिंटर दुती चंद, तैराक श्रीहरि नटराज जैसे कई ओलंपियन शिरकत करने जा रहे हैं। इसके अलावा कई खिलाड़ी ऐसे हैं जो पहले खेलो यूनिवर्सिटी गेम्स में खेल चुके हैं और एक बार फिर शिरकत कर रहे हैं। आने वाले समय में यही खिलाड़ी, एशियन गेम्स, राष्ट्रमंडल और अन्य अंतरराष्ट्रीय खेल में पदक जितेंगे।

पर्यावरण के लिहाज से इस बार खास है खेलो इंडिया

वहीं खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 (केआईयूजी 2021) के जरिए कर्नाटक सरकार पर्यावरणीय स्थिरता जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे पर ध्यान केंद्रित कर रही है। खेल के मैदान के बाहर इन खेलों में इस्तेमाल आने वाली हर चीज रीयूजेबल मटेरियल से बनी है। एथलीटों के परिवहन के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग किया जा रहा है और हर जगह के स्रोत पर सारे कचरे को गीले और सूखे कचरे के रूप में अलग किया जाएगा। केआईयूजी 2021 वाकई में हरित खेल होंगे।

करीब 3,879 प्रतिभागी लेंगे हिस्सा

मल्लखंब और योगासन जैसे स्वदेशी खेलों सहित 20 विभिन्न विषयों में 200 से ज्यादा विश्वविद्यालयों के लगभग 3,879 प्रतियोगी इसमें हिस्सा ले रहे हैं। कांतीरवा स्टेडियम कॉम्प्लेक्स में एथलेटिक्स और बास्केटबॉल की मेजबानी होगी, वहीं शूटिंग साई परिसर में और हॉकी प्रतियोगिताओं का आयोजन करियप्पा स्टेडियम में होगा। अन्य सभी कार्यक्रम जैन शिक्षण संस्थान परिसर में होंगे।

वन-स्टॉप ऐप में सभी जानकारी

केआईयूजी 2021 में भाग लेने वाले 8000 से अधिक प्रतिभागियों, कोच और अधिकारियों के पास, प्रतियोगिता से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए अपनी तरह के पहले मोबाइल ऐप की सुविधा है। वन-स्टॉप ऐप में अन्य विवरणों के साथ आवास, भोजन, परिवहन सेवा, आपातकालीन संपर्क, विभिन्न स्थलों तक पहुंचने के लिए नक्शे और खेलों के बारे में महत्वपूर्ण सूचनाएं उपलब्ध होंगी।

प्रतिभागियों के लिए विशेष व्यवस्था

कर्नाटक सरकार ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 के प्रतिभागियों के लिए विशेष व्यवस्था की है। इसके तहत एथलीटों को अपने खेल उपकरणों को बेंगलुरु मेट्रो में ले जाने की अनुमति दी गयी है, जब वे अपने आवास से संबंधित प्रतियोगिता स्थलों तक की यात्रा करेंगे।

राज्य सरकार ने भी शहर के प्रमुख स्थानों पर होर्डिंग लगाकर पूरे बेंगलुरु शहर को खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 के साथ जोड़ने के प्रयास किए हैं। प्रतिभागी उसी समय से केआईयूजी वातावरण में प्रवेश कर लेंगे, जब वे रेलवे और बस स्टेशनों से बाहर निकलेंगे, क्योंकि खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 के विज्ञापन बोर्ड उनका स्वागत करने का इंतजार कर रहे होंगे।

खेलो इंडिया की शुरुआत

भारत में खेल संस्कृति को पुनर्जीवित करने के लिए खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2020 में शुरू किया गया, खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का दूसरा आयोजन 24 अप्रैल से 3 मई तक किया जा रहा है, जिसका उद्घाटन समारोह रविवार को किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.