National Wheels

केएल राहुल को लेकर खड़े हुए नए सवाल, जानें क्या है इसके पीछे की वजह


IND Vs ZIM: जिम्बाब्वे के खिलाफ खेली गई तीन मैचों की वनडे सीरीज में स्टार बल्लेबाज केएल राहुल ने बल्ले से निराशाजनक प्रदर्शन किया. केएल राहुल (KL Rahul) ने इस सीरीज के जरिए अपनी फिटनेस तो साबित कर दी है लेकिन सवाल उनके ओपनिंग क्रम में बल्लेबाजी करने को लेकर खड़े हो रहे हैं. हालांकि बावजूद इसके इस बात की संभावना अधिक है कि वह टी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की ओर से ओपनिंग का जिम्मा ही संभालते हुए नज़र आएं.

पिछले कुछ महीने राहुल के लिए बहुत कठिन रहे हैं, जो एक सर्जरी और कोविड-19 के कारण अंतर्राष्ट्रीय मैचों से से बाहर रहे हैं. आईपीएल 2022 में उन्होंने लखनऊ सुपर जायंट्स को प्लेआफ में पहुंचाया. इसके बाद 30 वर्षीय बल्लेबाज को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू टी20 में भारत की कप्तानी करनी थी, लेकिन चोट के कारण वह सीरीज से चूक गए.

यह पता चलने के बाद कि उन्हें सर्जरी की आवश्यकता होगी, वह इंग्लैंड और आयरलैंड के दौरे से भी बाहर रहे. इसके बाद, सलामी बल्लेबाज को वेस्टइंडीज दौरे के लिए वापसी करनी थी, लेकिन कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उन्हें आराम करने की सलाह दी गई.

आखिरकार, बीसीसीआई की मेडिकल टीम ने उन्हें जिम्बाब्वे में तीन मैचों की वनडे सीरीज में खेलने के लिए मंजूरी दे दी, ताकि एशिया कप 2022 से पहले फॉर्म में आ जाए, जहां वह कप्तान रोहित शर्मा के साथ भारत की पारी की शुरूआत करने के लिए तैयार हैं.

राहुल पर रहेगा भारी दबाव

हालांकि, जिम्बाब्वे सीरीज में उनके प्रदर्शन के बाद टीम प्रबंधन को थोड़ा चिंतित होना चाहिए, जहां वह बल्ले से कमाल करने में विफल रहे. बेंगलुरू के इस खिलाड़ी को पहले वनडे मैच में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला. दूसरे मैच में सिर्फ एक रन बनाया और तीसरे में 30 रन बनाए, जिससे एशिया कप टी20 से पहले उनकी जगह को लेकर सवाल खड़े होने लगे.

इसमें कोई शक नहीं कि राहुल पिछले आधे दशक में भारत के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाजों में से एक रहे हैं लेकिन उन्हें समय-समय पर कड़ी आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा है. दाएं हाथ के बल्लेबाज की सबसे बड़ी आलोचना उनकी धीमे स्ट्राइक रेट की रही है, खासकर तब जब वह पूरे मैदान में शॉट खेलने में सक्षम है.

राहुल की अनुपस्थिति में, भारत ने ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, श्रेयस अय्यर और संजू सैमसन को सलामी बल्लेबाज के रूप में आजमाया और उन्होंने अच्छा काम किया. दूसरी ओर, भारत के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने भी अतीत में वह भूमिका निभाई है. इसलिए, भारत के पास ओपनिंग स्लॉट के लिए बहुत सारे विकल्प हैं, जो स्टार बल्लेबाज पर अतिरिक्त दबाव डालता है.

Axar Patel ने बयां किया अपना दर्द, बताया क्यों आखिरी मैच में बाहर रहना था मुश्किल

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.