National Wheels

किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी’ अभियान किसानों के लिए बड़ा तोहफा ?

किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी’ अभियान किसानों के लिए बड़ा तोहफा ?

‘केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ’26 अप्रैल 2022′ को “किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी” अभियान के तहत कृषि एवं किसान कल्याण से जुड़े अनेक कार्यों का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में देश भर से तकरीबन एक करोड़ किसान और हितधारक साथ जुड़े हुए हैं। केंद्र सरकार ने अभियान की शुरुआत कर देश के किसानों को बड़ा तोहफा दिया है।

क्या है ‘किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी’ ?

कृषि मंत्रालय “किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी अभियान” के तहत देश के किसानों के बीच केंद्र और राज्य सरकार किसानों के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारियां लोगों तक पहुंचाएगी। मंत्रालय किसानों की योजनाओं के बारे में प्रचार-प्रसार करेगा ताकि अधिक से अधिक संख्या में देश के किसान योजनाओं का लाभ ले सकें।

25 से 30 अप्रैल तक विशेष अभियान का आयोजन

आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 25 से 30 अप्रैल तक इस विशेष अभियान का आयोजन किया जाएगा, जिसमें प्रगतिशील और नवोन्मेषी किसानों का अभिनंदन, छोटे और मध्यम किसानों, महिला किसानों, एफपीओ के लिए प्राकृतिक खेती के बारे में क्षेत्रीय प्रदर्शनियां, किसान वैज्ञानिक बातचीत आदि आयोजित की जाएंगी।

सभी कृषि विज्ञान केंद्रों में एक दिवसीय किसान मेले का आयोजन

26 अप्रैल 2022 को ही देश के सभी कृषि विज्ञान केंद्रों पर एक दिवसीय किसान मेले का आयोजन किया जाएगा, जिससे व्यापक स्तर पर किसानों से जुड़ी बातों का प्रचार प्रसार किया जा सके। सप्ताह भर चलने वाले अभियान के दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री सामान्य सेवा केंद्र द्वारा आयोजित फसल बीमा पर देशव्यापी कार्यशाला का भी शुभारंभ करेंगे।

कृषि मंत्रालय के अलावा कई संबद्ध मंत्रालय भी लेंगे हिस्सा

कृषि मंत्रालय के अलावा इस अभियान में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय, पशुपालन मंत्रालय, ग्रामीण विकास मंत्रालय और सहकारिता मंत्रालय की योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में भी बड़ी संख्या में किसानों के बीच जागरूकता पैदा करने और प्रचार करने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ डीएवाई-एन आर एल एम ( दीनदयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन) के तहत कृषि पर्यावरण और पशुधन कार्य प्रणालियों पर एक संवाद आयोजित किया जाएगा। इसी तरह खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) पर एक वेबीनार भी आयोजित करेगा।

किसानों को किया जाएगा सम्मानित

इस अभियान के दौरान देश भर के 75 चयनित किसानों और उद्यमियों के लिए राष्ट्रीय आत्मनिर्भर भारत सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

किसानों के लिए केंद्र सरकार चला रही है कई योजनाएं

केंद्र सरकार देश के किसानों की आय दोगुना करने एवं उनके जीवन में सुधार लाने के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं चला रही है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना है। यह योजना ’24 फरवरी 2019′ को शुरू की गई थी।

हर साल 75,000 करोड़ रुपए भेजे जाते हैं किसानों के खातों में

इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत देश के 14 करोड़ किसानों के बैंक अकाउंट में दो-दो हजार रुपए तीन किस्तों में भेजे जाते हैं। याद हो, पीएम मोदी ने इस योजना के 3 साल पूरे होने पर कहा था कि “आत्मनिर्भर कृषि” और ”खुशहाल किसान” की दिशा में यह योजना महत्वपूर्ण साबित हो रही है। इस योजना के माध्यम से हर साल 75,000 करोड़ रुपए किसानों के खातों में डाले जाते हैं।

पीएम किसान योजना के अलावा प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, परंपरागत कृषि विकास योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना जैसी अनेक योजनाएं केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही हैं, जिनसे देश के अन्नदाताओं को भरपूर लाभ मिल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.