National Wheels

कवि मनोज मुंतशिर और कांग्रेस नेत्री पंखुरी में ट्वीटर पर छिड़ी जंग

कवि मनोज मुंतशिर और कांग्रेस नेत्री पंखुरी में ट्वीटर पर छिड़ी जंग

जेएनयू परिसर में ब्राह्मण बाहर जाओ, बनिया बाहर जाओ, के स्लोगन लिखे होने की तस्वीरें वायरल होने के बाद कवि मनोज मुंतशिर शुक्ला ने यूट्यूब पर ब्राह्मण गौरव गाथा का वीडियो अपलोड किया है। ट्नेवीटर पर भी उन्होंने इसे साझा किया। कांग्रेस नेत्री उत्तर प्रदेश कांग्रेस की सोशल मीडिया चेयरपर्सन पंखुरी पाठक ने इस पर मनोज मुंतशिर पर भाजपा आईटी सेल से जुड़ा बताकर हमला किया है। मनोज ने इसका जवाब भी दिया है। पंखुरी ने फिर ट्वीट किया तो मनोज समर्थक टूट पड़े हैं। कइयों ने पंखुरी पर समाजवादी पार्टी में रहने, यादव परिवार में शादी करने और फिर कांग्रेस में पहुंचने की कहानी भी सुनाकर उनके ब्राह्मण होने पर ही सवाल खड़ा कर दिया है।

जेएनयू परिसर में पिछले कुछ दिनों से ब्राह्मणों और बनियों के खिलाफ स्लोगन दीवारों पर लिखे दिख रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी यह खूब वायरल हो रहे हैं। इसे लेकर ही अमेठी जिले के निवासी कवि और फिल्मी गीतकार मनोज मुंतशिर शुक्ला ने ब्राह्मण गौरव गाथा का वीडियो बनाया है। सोशल मीडिया पर मनोज मुंतशिर का यह वीडियो खूब वायरल हो रहा है। ब्राह्मणों में इसे हाथों-हाथ शेयर किया जा रहा है।

पंखुरी पाठक ने लिखा कि मुंतशीर से हाल ही में शुक्ला बने भाजपा IT Cell के नए recruit को ब्राह्मण ब्राह्मण का विलाप करने पर लगाया है।
आवाज़ भी फट गई है, बिकने के बाद शब्दों का भार भी कम हो गया है ।
खोखले लगने लगे हैं। बेचारे समझ नहीं पा रहे कि बिक कर ‘सावरकर’ तो बना जा सकता है पर ‘आज़ाद’ नहीं।

इसके जवाब में मनोज मुंतशिर ने लिखा कि मुझे भला-बुरा कहिए,आपकी रोज़ी-रोटी चलती रहेगी,पर वीर सावरकर जैसे महापुरुषों पर ज़ुबान खोलने से पहले अपनी ज़ुबान की हैसियत देख लें। इतिहास पढ़ें,श्रीमती इंदिरा गांधी भी सावरकर की प्रशंसक थीं.बाक़ी, शेरों की आवाज़ फटी हुई ही होती है, आप ने सिर्फ़ बकरियों को सुना है, आप नहीं समझेंगी।

बात यहीं रुकी नहीं। पंखुरी दनादन ट्वीट करती रहीं। उन्होंने समर्थकों के ट्वीट को भी निजी तर पर लेना और जवाब देना शुरू कर दिया।

मनोज ने फिर लिखा कि मैंने तो कांग्रेस के विरुद्ध कुछ नहीं कहा, लेकिन कांग्रेस ब्राह्मण और हिन्दू विरोध का कोई मौका नहीं चूकती। आदरणीय वीर सावरकर पर दिया गया इंडिया जी का ये वक्तव्य पढ़ लें, और हिम्मत हो तो सावरकर की तरह इंदिरा जी को भी गरिया दें, आज ही पगार बंद, सड़क पर आ जाएंगी।

 

अर्पित आलोक मिश्र ने ट्वीट किया कि ब्राह्मण भारत छोड़ो’ लिखने पर कायदे से विरोध का एक ट्वीट भी नहीं करने वाली पंखुरी पाठक, मनोज मुंतशिर को लेकर ट्वीट की झड़ी लगा बैठी हैं, क्योंकि कंफर्ट जोन का मामला जो है!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.