National Wheels

कमिश्नर के ‘ओके’ ने #PrayagrajMetro को दिया पंख, कुंभ तक बनाने का झुनझुना

कमिश्नर के ‘ओके’ ने #PrayagrajMetro को दिया पंख, कुंभ तक बनाने का झुनझुना

प्रयागराज: संगम नगरी में लाइट मेट्रो के निर्माण की उम्मीदें धीरे-धीरे जमा होने लगी है। प्रयागराज विकास प्राधिकरण बोर्ड के अध्यक्ष और प्रयागराज मंडल के कमिश्नर ने सोमवार को भी समीक्षा बैठक में मेट्रो रेल की परियोजना पर अपनी मुहर लगा दी। अब इसका डीपीआर बनाकर मंजूरी के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को भेजा जाएगा।

पीडीए ने मेट्रो रेल के 44 किलोमीटर लंबे मार्ग को विकसित करने तथा नगर निगम ने झांसी में छतनाग रोड पर ड्रेनेज पाइप लाइन बिछाने एवं चौड़ीकरण के कार्य का प्रस्ताव रखा है। इसी क्रम में नगर निगम ने 50 नए कंपैक्टर्स एवं 150 टिपर्स खरीदने का भी प्रस्ताव दिया है।

मंडलायुक्त की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में महाकुंभ 2025 के दृष्टिगत विभिन्न विभागों द्वारा दिए गए कई प्रस्तावों को हरी झंडी दी गई। सूची तैयार कर अनुमोदन हेतु अग्रसारित किया जाएगा।

शहर में ट्रेफिक कंजेशन कम करने के दृष्टिगत चीफ इंजीनियर पीडब्ल्यूडी की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की है जो शहर के अंदर के उन पॉइंट्स का चिन्हांकन करेगी जहां पर सड़क चौड़ीकरण या फ्लाईओवर बनाने की आवश्यकता है।

त्रिवेणी रोड, लाल सड़क, पार्किंग नंबर 17, गल्ला मंडी मार्ग व संगम क्षेत्र में सेक्टर 1 एवं 2 पर सीवर लाइन बिछाने, अक्षय वट मार्ग पर एवं पार्किंग नंबर 17 में एक एक नलकूप लगाने तथा पुरानी गहरी लाइनों को बदलने के प्रस्ताव को मंडलायुक्त मंजूरी मिल गई है।

कुंभ 2025 तक 34 अन्य नालों की टैपिंग करने का प्रस्ताव रखा गया है। इनमें से 20 की टैपिंग का कार्य एनएमसीजी तथा शेष 14 नालों की टैपिंग का कार्य राज्य सरकार/कुंभ बजट से कराने का प्रस्ताव रखा गया है। इसके पश्चात शहर के सभी 76 नालों की टैपिंग पूर्ण हो जाएगी।

उधर, जानकारों का दावा है कि प्रयागराज में कुंभ2025 तक मेट्रो का निर्माण संभव नहीं है। वजह अभी बजट तक स्वीकृत नहीं है। संशोधित डीपीआर बनने, शासन से मंजूरी, बजट आवंटन, जमीन अधिग्रहण और टेंडर प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही कार्य शुरू हो सकता है। इतनी प्रक्रिया में न्यूनतम एक से डेढ़ वर्ष लगना तय है। फिर, डेढ वर्ष से भी कम बचने वा ए समय में यह कार्य पूरा होना संभव नहीं है।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.