National Wheels

कभी 20 करोड़ का हुआ टर्नओवर तो एक अक्टूबर से ई-इनवायस अनिवार्य

कभी 20 करोड़ का हुआ टर्नओवर तो एक अक्टूबर से ई-इनवायस अनिवार्य

प्रयागराज  : कांफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र गोयल ने बताया कि ऐसे व्यापारी जिनका वार्षिक टर्नओवर 1 जुलाई 2017 के बाद किसी भी वित्तीय वर्ष में 10 करोड़ से अधिक रहा है, उनको एक अक्टूबर 2022 से ई-इनवॉइस बनाना अनिवार्य होगा।

बताया कि ऐसे समस्त व्यापारिक लेन-देन जो B2B अर्थात पंजीकृत व्यापारी से पंजीकृत व्यापारी के मध्य होंगे। उसमें 1 अक्टूबर से ई इन्वॉयस अनिवार्य की गई है किंतु अपंजीकृत व्यापारियों को माल बेचने पर इनवॉइस की आवश्यकता नहीं होगी।

ऐसा न करने वाले व्यापारियों को नोटिस भी आएगा और जुर्माने की कार्यवाही भी विभाग द्वारा की जाएगी।

पूर्व में 100 करोड़ और उससे अधिक वार्षिक टर्न ओवर के व्यापारियों पर लागू थी जिसे बाद में घटाकर 50 करोड़ किया गया। 1 अप्रैल से इसे 20 करोड़ और उससे अधिक के व्यापारियों पर लागू किया गया था। अब 1 अक्टूबर से यह 10 करोड़ और उससे अधिक के व्यापारियों पर लागू होगी।

सूत्रों के अनुसार 1 जनवरी 2023 से पांच करोड और उससे अधिक वार्षिक टर्नओवर वाले व्यापारियों पर लागू कर दी जाएगी। इसके पीछे सरकार का उद्देश्य टैक्स की चोरी को रोकना है। किंतु, साथ ही कैट की यह भी मांग है कि जहां ई इनवॉइस अनिवार्य है वहां से ईवे बिल की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि दोनों ही सरकार के पोर्टल पर बनते हैं। इनवॉइस बनते ही सरकार को इसकी सूचना प्राप्त हो जाती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.