National Wheels

ईसीसी में राष्ट्रीय कार्यशाला में रिसर्च की गुणवत्ता पर हुई चर्चा

प्रयागराज: इविंग क्रिश्चियन कॉलेज के रसायन विज्ञान विभाग में राष्ट्रीय कार्यशाला के दूसरे दिन गुणवत्ता परक शोध में विद्यार्थियों की भूमिका पर चर्चा हुई। कार्यक्रम के समन्वयक डा जस्टिन मसीह ने कहा कि शैक्षणिक कार्यक्रमों में आवश्यकता अनुरूप परिवर्तन लाने की आवश्यकता है। कार्यक्रम का दूसरा दिन दोपहर 1 बजे तकनीकी सत्र के साथ शुरू हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में रसायन शास्त्र के पूर्व अध्यक्ष डा. ललित यूसेबियस उपस्थित थे। उन्होंने किसी भी विश्लेषणात्मक तकनीक के लिए नमूने के महत्व पर प्रकाश डाला और रसायन शास्त्र विभाग के सभी शिक्षकों को इस कार्यक्रम के आयोजन की बधाई भी दी।

पहले व्याख्यान में डॉ. कमलेश पांडे, वैज्ञानिक, केंद्र प्रायोगिक खनिज विज्ञान और पेट्रोलॉजी में नैनो-सामग्री के संश्लेषण के महत्वपूर्ण तरीकों पर चर्चा की गई। उन्होंने एक्सआरडी और एफटी-आईआर और एटीआर स्पेक्ट्रोस्कोपी जैसी विभिन्न लक्षण वर्णन तकनीकों पर भी चर्चा की।
दूसरी वार्ता में श्री अभिनव लाल, सहायक प्रोफेसर, रसायन विज्ञान विभाग, ईसीसी ने फ्लेम फोटोमीटर के मूल सिद्धांत और कार्यप्रणाली पर चर्चा की। उन्होंने दूध के नमूने, फलों के रस के नमूनों और मिट्टी के नमूनों में आयनों के निर्धारण के लिए फ्लेम फोटोमीटर के विभिन्न अनुप्रयोगों के बारे में भी चर्चा की।

इसके बाद प्रतिभागियों को प्रायोगिक सत्र के लिए प्रयोगशाला ले जाया गया जिसमे उन्होंने यूवी स्पेक्ट्रोफोटोमीटर, आईआर स्पेक्ट्रोफोटोमीटर और फ्लेम फोटोमीटर में विभिन्न प्रयोग किये। इस कार्यक्रम में डा. डेविड, डा. सहाय, डा. भदौरिया, डा. सुंदरम आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.