कामनवेल्थ 2018: मिलें भारत के पदक वीरों से, पढ़िए पूरी लिस्ट

कामनवेल्थ 2018: मिलें भारत के पदक वीरों से, पढ़िए पूरी लिस्ट

दिल्ली। आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित 21वां राष्ट्रमंडल खेल रविवार को समाप्त हो गया। भारतीय दल ने गोल्ड कोस्ट में कुल 66 पदक अपने नाम किए। इनमें 26 स्वर्ण, 20 रजत और इतने ही कांस्य पदक हैं। भारत पदक तालिका में तीसरे स्थान पर रहा। आस्ट्रेलिया (198 पदक, 80 स्वर्ण, 59 रजत और 59 कांस्य) के साथ पहले तथा इंग्लैंड (136 पदक, 45 स्वर्ण, 45 रजत और 46 कांस्य) ने दूसरा स्थान हासिल किया।
भारत को एथलेटिक्स में तीन, बैडमिंटन में छह, मुक्केबाजी में नौ, पैरा पावरलिफ्टिंग में एक, निशानेबाजी में 16, स्क्वॉश में दो, टेबल टेनिस में आठ, भारोत्तोलन में नौ, कुश्ती में 12 पदक मिले। भारत ने कुल 16 खेलों में हिस्सा लिया। इस साल कुल 218 भारतीय खिलाड़ी गोल्ड कोस्ट पहुंचे, जिनमें 103 महिलाएं और 115 पुरुष शामिल हैं।
एथलेटिक्स : कुल खिलाड़ी 28 (12 महिला, 16 पुरुष)
एथलेटिक्स में भारत के लिए नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक में ऐतिहासिक स्वर्ण जीता जबकि सीमा पुनिया ने गोला फेंक में रजत पदक हासिल किया। इसी स्पर्धा में नवजीत ढिल्लन ने कांस्य जीतकर देश को दोहरी सफलता दिलाई।
बैडमिंटन : कुल खिलाड़ी 10 (5 महिला, 5 पुरुष)
बैडमिंटन में भारत के लिए सायना नेहवाल ने महिला एकल में स्वर्ण जीता जबकि मिश्रित टीम स्पर्धा में भी भारत को एक स्वर्ण प्राप्त हुआ। इसके अलावा भारत को तीन रजत भी मिले। पुरुष युगल में सात्विक रेंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी ने रजत जीता जबकि पुरुष एकल में किंदाम्बी श्रीकांत फाइनल में हार गए। महिला एकल में पीवी सिंधु ने भी रजत जीता जबकि एन. सिक्की रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी ने महिला युगल में कांस्य जीता।
मुक्केबाजी : कुल खिलाड़ी 12 (चार महिला, 8 पुरुष)
मुक्केबाजी में भारत को आशातीत सफलता हासिल हुई। भारतीय मुक्केबाजों ने तीन स्वर्ण, तीन रजत और तीन कांस्य पदक जीते। गौरव सोलंकी ने पुरुषों के 52 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीता जबकि विकास कृष्ण ने 75 किलोग्राम भारवर्ग में सोना जीता। महिलाओं के 45-48 कि लोग्राम भारवर्ग में भारत की दिग्गज मुक्केबाज एम.सी मैरी कॉम ने स्वर्ण पदक हासिल किया।
सतीश कुमार ने 91 प्लस किलोग्राम भारवर्ग में रजत पदक जीता जबकि अमित ने 46-49 किलोग्राम और मनीष कौशिक ने 60 किलोग्राम भारवर्ग में रजत पदक अपने नाम किया। हुसामुद्दीन मोहम्मद ने पुरुषों के 56 किलोग्राम भारवर्ग और मनोज कुमार ने 69 किलोग्रा भारवर्ग में कांस्य पदक हासिल किया। इनके अलावा, नमन तंवर ने 91 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक जीता।
पैरा पावरलिफ्टिंग : कुल खिलाड़ी 4 ( एक महिला, तीन पुरुष)
भारत को एक कांस्य पदक पैरा पावरलिफ्टिंग में भी मिला। यह कांस्य पदक सचिन चौधरी ने पुरुषों की हैवीवेट कटेगरी में जीता।
निशानेबाजी : कुल खिलाड़ी 27 ( 12 महिला, 15 पुरुष)
इन खेलों में भारतीय निशानेबाजों का प्रदर्शन सबसे दमदार रहा। भारत ने सात स्वर्ण समेत कुल 16 पदक जीते। पुरुषों के 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में जीतू राय और 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में अनीष भानवाल ने स्वर्ण पदक जीता जबकि संजीव राजपूत ने 50 मीटर राइफल-3 पोजीशन स्पर्धा में स्वर्ण हासिल किया।
भारत की महिला निशानेबाजों ने भी कुल चार स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में 16 साल की मनु भाकेर ने स्वर्ण जीता। हीना सिद्धू ने 25 मीटर पिस्टल और तेजस्विनी सावंत ने 50 मीटर राइफल-3 पोजीशन स्पर्धा में स्वर्ण जीता जबकि श्रेयसी सिंह ने डबल ट्रैप स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम किया।
स्वर्ण पर कब्जा जामने वाली हीना सिद्धू ने 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक भी जीता। 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में 17 वर्षीय मेहुली घोष ने रजत पदक हासिल किया। इनके अलावा, अंजुम मोदगिल ने 50 मीटर राइफल-3 पोजीशन और तेजस्विनी सावंत ने 50 मीटर राइफल प्रोन स्पर्धा में सोना अपने नाम किया।
भारत के ओम मिथरवाल ने पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल एवं 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा में कांस्य पदक जीता। इनके अलावा, रवि कुमार ने 10 मीटर एयर राइफल और अंकुर मित्तल ने डबल ट्रैप स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया। महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा का कांस्य पदक अपूर्वी चंदेला के नाम रहा।
स्क्वॉश : कुल खिलाड़ी 6 (2 महिला, 4 पुरुष)
स्क्वॉश में महिलाओं की युगल स्पर्धा में दीपिका पल्लीकल कार्तिक एवं जोशना चिनप्पा और मिश्रित युगल स्पर्धा में दीपिका एवं सौरव घोषाल की जोड़ी ने रजत पदक जीता।
टेबल टेनिस : कुल खिलाड़ी 12 (सात महिला, पांच पुरुष)
टेबल टेनिस में भारत का प्रदर्शन शानदार रहा। भारत की पुरुषों और महिलाओं की टीम ने स्वर्ण पदक जीता। मानिका बत्रा ने महिलाओं के एकल वर्ग में भी स्वर्ण पदक जीता।
पुरुषों के युगल स्पर्धा में अचंता शरथ कमल एवं साथियान गणाशेखरन और महिलाओं की युगल स्पर्धा में मानिका बत्रा एवं मौउमा दास की जोड़ी ने रजत पदक हासिल किया। भारत को तीन कांस्य पदक भी मिले। शरथ कमल ने एकल वर्ग में पदक अपने नाम किया जबकि हरमीत देसाई एवं सनिल शंकर शेट्टी और साथियान गणाशेखरन एवं मानिका बत्रा की जोड़ी ने मिश्रित युगल वर्ग में कांस्य पदक पर कब्जा किया।
भारोत्तोलन : कुल खिलाड़ी ( 16 (8 महिला, 8 पुरुष)
भारोत्तोलन में सतीश कुमार शिवालिंगम ने पुरुषों के 77 किलाग्राम भारवर्ग और वेंकट राहुल रंगाला ने 85 किलोग्राम भारवर्ग का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इनके अलावा, महिला भारोत्तोलकों ने कुल तीन स्वर्ण पदक जीते। मीराबाई चानू ने महिलाओं की 48 किलोग्राम भारवर्ग और संजीता चानू ने 53 किलोग्राम भारवर्ग में सोना जीता जबकि पूनम यादव ने 69 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया।
प्रदीप सिंह ने पुरुषों के 105 किलोग्राम और गुरुराजा ने 56 किलोग्राम भारवर्ग में रजत पदक जीता। दीपक लाथेर ने पुरुषों के 69 किलोग्राम और विकास ठाकुर ने 94 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक हासिल किया।
कुश्ती : कुल खिलाड़ी 12 (6 महिला, 6 पुरुष)
कुश्ती में भारत ने पांच स्वर्ण के साथ कुल 12 पदक जीते। सुमीत मलिक ने पुरुषों के 125 किलोग्राम और राहुल अवारे 57 किलोग्राम भारवर्ग में सोना जीता। इनके आलावा, बजरंग पूनिया ने 65 किलोग्राम और सुशील कुमार ने 74 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया। महिलाओं की 50 किलोग्राम भारवर्ग में विनेश फोगाट ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया।
पुरुषों के 97 किलोग्राम भारवर्ग में मौसम खतरी ने रजत पदक जीता। इनके अलावा, महिलाओं की 53 किलोग्राम भारवर्ग में बबीता फोगाट को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। पूजा ढांडा ने 57 किलोग्राम भारवर्ग में रजत जीता।
सोमवीर ने पुरुषों के 86 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक जीता जबकि महिलाओं की 62 किलाग्राम भारवर्ग में साक्षी मलिक को को भी कांस्य से ही संतोष करना पड़ा। इनके अलावा, दिव्या काकरान ने 68 किलोग्राम और किरण ने 76 किलोग्राम भारवर्ग में कांस्य पदक अपने नाम किया। भारत को यह सभी पदक फ्री स्टाइल स्पर्धा में मिले।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *