पीएम मोदी के वाराणसी में फ्लाईओवर गिरा, 20 की मौत

प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक निर्माणाधीन पुल का हिस्सा मंगलवार की शाम गिर गया. इस हादसे में दर्जनों लोगों के दबे होने की आशंका जाहिर की जा रही है.  बताया जा रहा है कि पिलर के नीचे कई गाडिय़ां भी दब गई हैं.

 

इस दुर्घटना में 20 लोगों की मौत हो गई है. हालांकि मरने वालों की तादाद ज्यादा होने की आशंका है. फिलहाल घटना स्थल पर राहत एवं बचाव कार्य जारी है. हादसा कैंट स्टेशन के करीब घटित हुआ है. राज्य के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व मंत्री नीलकंठ तिवारी को घटनास्थल पर राहत कार्य के प्रबंधन के लिए सरकार की ओरसे भेजा गया है.

कैंट रेलवे स्टेशन के पास बन रहा ओवरब्रिज का एक बड़ा हिस्सा मंगलवार शाम को अचानक जमीन पर आ गिरा. ओवर ब्रिज का हिस्सा जमीन पर गिरते ही नीचे मौजूद कई लोग इसके मलबे में दब गए. ओवरब्रिज का पिलर गिरने के बाद चीख पुकार मच गई और अफरा-तफरी की स्थिति मौके पर हो गई. इस दौरान भागादौड़ी और जान बचाने की कोशिश में कई लोग गिरकर घायल भी हो गए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक निर्माणाधीन पुल का हिस्सा मंगलवार की शाम गिर गया. इस हादसे में दर्जनों लोगों के दबे होने की आशंका जाहिर की जा रही है.  बताया जा रहा है कि पिलर के नीचे कई गाडिय़ां भी दब गई हैं. इस दुर्घटना में 20 लोगों की मौत हो गई है. हालांकि मरने वालों की तादाद ज्यादा होने की आशंका है. फिलहाल घटना स्थल पर राहत एवं बचाव कार्य जारी है. हादसा कैंट स्टेशन के करीब घटित हुआ है. राज्य के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व मंत्री नीलकंठ तिवारी को घटनास्थल पर राहत कार्य के प्रबंधन के लिए सरकार की ओरसे भेजा गया है. राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और सेना की टीमों को लगाया गया है. कई चार पहिया दोपहिया और तिपहिया वाहन फ्लाईओवर के मलबे में दबे हुए हैं. मलवा हटाए जाने के बाद मृतकों की सही संख्या का पता चल सकेगा. आशंका है कि मृतकों की संख्या काफी बढ़ सकती है.
कैंट रेलवे स्टेशन के पास बन रहा फ्लाईओवर का एक बड़ा हिस्सा मंगलवार शाम को अचानक जमीन पर आ गिरा. फ्लाईओवर का हिस्सा जमीन पर गिरते ही नीचे मौजूद कई लोग इसके मलबे में दब गए. ओवरब्रिज का पिलर गिरने के बाद चीख पुकार मच गई और अफरा-तफरी की स्थिति मौके पर हो गई. इस दौरान भागादौड़ी और जान बचाने की कोशिश में कई लोग गिरकर घायल भी हो गए.
प्रधानमंत्री की पूछताछ से उत्तर प्रदेश शासन में घबराहट
फ्लाईओवर के गिरने की घटना से भारतीय जनता पार्टी की कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनने के उत्सव का रंग फीका पड़ गया. भाजपा मुख्यालय पर हुए समारोह में प्रधानमंत्री ने इस घटना को लेकर दुख जताया. साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से घटना की विस्तृत जानकारी तलब की है. प्रधानमंत्री ने पूछा कि घटना कैसे हुई क्यों हुई और किसकी लापरवाही से हुई है. इसकी पूरी रिपोर्ट दी जाए. इसके बाद यूपी सरकार में हड़कंप मचा हुआ है. वाराणसी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है.
तीन सदस्यीय जांच टीम गठित
प्रधानमंत्री की पूछताछ के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 3 सदस्य उच्च स्तरीय जांच समिति गठित करने की घोषणा की है. समिति को अगले 48 घंटे में पूरी घटना और इसके प्रति लापरवाह अफसरों की रिपोर्ट मुख्यमंत्री को देनी है.
घटनास्थल पर पहुंचे डिप्टी सीएम केशव
कैंट क्षेत्र में निर्माणाधीन फ्लाईओवर का निर्माण उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम कर रहा है. लोक निर्माण विभाग के साथ निगम का मुखिया होने के नाते उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सूचना मिलते ही लखनऊ से वाराणसी के लिए रवाना हो गए. पहुंचते ही उन्होंने पूरी घटना का विस्तृत विवरण अफसरों से लिया. घटनास्थल का मुआयना किया . साथ ही ऐलान किया कि घटना में लापरवाह पाए जाने वाले अफसर के खिलाफ देर रात तक ही कार्रवाई कर दी जाएगी डिप्टी सीएम मौर्य राजस्थानी अफसरों की साथ वाराणसी में ही कैंप कर रहे हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *