रक्षा क्षेत्र में दर्ज हुआ नैनी का नाम, ध्रुव हेलीकॉप्टर के ढांचे का उत्पादन शुरू

इलाहाबाद के औद्योगिक शहर नैनी का नाम भी अब भारतीय रक्षा उपकरणों के निर्माण क्षेत्र में दर्ज हो गया है. हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड की सब्सिडियरी इकाई नैनी एयरो स्पेस लिमिटेड में ध्रुव हेलीप्टर के ढांचे का उत्पादन गुरुवार से शुरू हो गया है. ध्रुव हेलीकॉप्टर भारतीय वायु सेना, सेना और कुछ अर्धसैनिक बलों के लिए बचाव व राहत अभियान का हिस्सा बनते हैं. जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल छोटी सैन्य कार्रवाई में किया जा सकता है. 
नैनी एयरो स्पेस लिमिटिड ने एक नई उड़ान भरते हुए वायु सेना में इस्तेमाल होने वाले ध्रुव हेलीकॉप्टर के ढांचे का उत्पादन शुरू कर दिया है. इससे पहले यहां ध्रुव हैलीकाप्टर एवं एयरक्राफ्ट के लूम का निर्माण शुरू किया गया था. कंपनी में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के सीएमडी आर. माधवन ने नई इकाई का उद्घाटन किया.
उन्होंने एनएईएल के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कम समय में उत्पादन शुरू करने के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि एचएएल मैनेजमेंट नैनी एयरोस्पेस लिमिटेड की हर प्रकार की सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध है. एनएईएल के चैयरमैन वीएम चमौला ने कहा कि एनएईएल की शुरुआत सही ढंग से हो गई है. किन्तु, अभी इसे और नई उंचाइयां प्राप्त करना है. इसके लिए पूर्ण लगन, कठिन परिश्रम, टीम भावना की जरूरत है. कर्मचारियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कंपनी के भविष्य का खाका खींच दिया गया है. हमें उपने उद्देश्य को समय सीमा से बहुत पहले ही प्राप्त करना है. ऐसा हम अपने कार्य में व्यवसायिकता एवं नवाचार लाकर ही कर सकते हैं.
नैनी एयरोस्पेस लिमिटेड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी आरके मिश्रा ने कम्पनी के अधिग्रहण के बाद से पिछले ढेड वर्ष के अंदर कम्पनी की प्रगति का ब्यौरा पेश किया. बताया कि अब तक 540 एयरक्राफ्ट एवं हैलीकाप्टर लूम का निर्माण नैनी इकाई में कर लिया है. हैलीकाप्टर के स्ट्रक्चर का निर्माण नैनी में शुरु होने से इलाहाबाद देश के हवाई जहाज निर्माण के नक्शे में शामिल हो गया. इस मौके पर एचएएल के सीएमडी ने नैनी इकाई के प्रशासनिक भवन का उद्घाटन किया.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *