इलाहाबाद जंक्शन पर भी देखिए ट्राइबल पेन्टिंग “वाल”

थोड़ा सुस्त ही सही, इलाहाबाद जंक्शन पर भी अब आपको पटना, गुवाहाटी, मुंबई जैसे तमाम स्टेशनों की तरह अनोखी पेंटिंग्स नजर आएंगी. जंक्शन के एक नंबर प्लेटफार्म से जुड़े कुछ हिस्से में ट्राइबल पेंटिंग से दीवारों को सजाया गया है. इस कार्य को उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन (एनसीआरडब्लूडब्ल्यूओ) के मार्गदर्शन में किया गया है. 30 जुलाई से इसे आम यात्रियों के लिए खोल दिया गया है.

जिस स्थान पर यह पेंटिंग्स हैं वह इलाहाबाद जंक्शन स्टेशन के पश्चिम की तरफ और प्लेटफार्म नंबर 1 के बगल में स्थित है. प्लेटफार्म नंबर 1 से इलाहाबाद जंक्शन में प्रवेश करने और छोड़ने वाली ग़ाड़ियो के यात्रियों को ‘गोंड’ आदिवासी चित्रकारी के कुछ सुंदर दृश्य देखने को मिलेंगे. ‘गोंड’ मध्य प्रदेश की एक जनजातीय चित्रकारी परंपरा है, जिसने अपनी सुंदरता के बोध और चित्रों में समाहित लोक और जनजातीय कथाओं के कारण राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की है. मध्य प्रदेश की ‘गोंड’ जनजाति द्वारा सदियों से इस कला के प्रयोग किया जाता रहा है जिसके फलस्वरूप इस चित्रकला को ‘गोंड’ शैली के नाम से जाना जाता है.

उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन (एनसीआरडब्लूडब्ल्यूओ) की अध्यक्षा अमिता चौहान ने कहा कि, “इस पहल का उद्देश्य यह है कि इलाहाबाद स्टेशन पर आने–जाने वाली ट्रेनों के यात्रियों को भारत की परंपराओं से जुड़े खूबसूरत चित्रकारी के दृष्य देखने को मिलें. चित्रकारी की यह शैली-अपने विविध रंगों के माध्यम से प्रकृति को मनमोहक तरीके से प्रस्तुत करती है. चित्रकारी में मौजूद पक्षियों, हाथियों, मछलियों, पेड़ों आदि की छवियां आंखों के लिये सुखद अनुभूतिदायक होती हैं. ट्राइबल पेन्टिंग का सबसे उत्तम प्रभाव यह रहा कि इससे दीवार के पास गंदगी करने वालों की संख्या मे भारी कमी आई है.

उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एमसी चौहान ने कहा कि उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन द्वारा की गई इस पहल की अवधारणा और इसका निष्पादन दोनों ही अद्वितीय है. उन्होने यह भी कहा कि ‘ट्राइबल पेन्टिंग वॉल’  इलाहाबाद जंक्शन पर आने वाले आगंतुकों के मध्य हमारी समृद्ध जनजातीय संस्कृति के बारे में चेतना फैलाने में भी मदद करेगी. इस समारोह में उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन की सदस्यायें और पदाधिकारीगण उपस्थित रही.

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *