लालू परिवार का मॉल ईडी ने किया सीज, बिहार का है यह सबसे बड़ा मॉल

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और जेल में बंद आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. मंगलवार को प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने पटना में निर्माणाधीन लालू परिवार के मॉल को सील कर दिया है. आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव ने इस मॉल की जमीन को रेलवे के दो होटलों को रिलीज पर देने के एवज में उपहार लिया था.
प्रवर्तन निदेशालय की ओर से सीज़ किया गया यह माल पटना के दानापुर क्षेत्र में बन रहा था. पर्यावरण मंत्रालय इस माल पर पहले ही रोक लगा चुका है. तेजस्वी यादव और राबड़ी देवी के नाम पर यह माल है. करीब 6 बीघा जमीन पर फैला यह माल 750 करोड़ की लागत से बनाया जा रहा था. बताते हैं कि बिहार के सबसे बड़े मॉल में इसकी गिनती हो रही थी.
ईडी द्वारा जप्त की गई जमीन की कीमत 44.75 करोड़ रुपए बताई जा रही है. आईआरसीटीसी होटल धनशोधन मामले में 44.75 करोड़ रुपए कीमत की 11 जमीने हैं. ईडी ने राजद प्रमुख लालू यादव की परिवार से जुड़ी एक कंपनी के नाम पर इन जमीनों को सील किया था. हाल ही में धनशोधन रोकथाम कानून से जुड़े मामलों की सुनवाई करने वाले प्राधिकारी ने ईडी को संपत्ति अपने कब्जे में लेने की इजाजत दी थी.
जब्त की गई जमीनें डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से हैं जो लारा प्रोजेक्ट्स एलएलपी के नाम से जानी जा रही है. इसके प्रबंध साझेदार लालू की पत्नी राबड़ी देवी और साझेदारों के रूप में तेजस्वी यादव व तेज प्रताप यादव और राजद के विधायक अबू दुजाना की कंपनी ओवेरियन कंस्ट्रक्शन इंडिया लिमिटेड के नाम है. आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए रांची और पूरी में रेलवे के दो होटलों को लीज पर देने के एवज में लालू यादव ने इस जमीन की रजिस्ट्री अपने परिवार के नाम कराई थी. इस मॉल के निर्माण में मिट्टी घोटाले का आरोप भी लालू परिवार पर लगा था.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *