यूक्रेन की मॉडल को लेकर पुलिस दिल्ली से महराजगंज लौटी

दो अप्रैल को एसटीएफ ने गोरखपुर के होटल से किया था गिरफ़्तार
हाईकोर्ट के सशर्त ज़मानत दिए जाने के बाद यूक्रेन दूतावास ने हाथ खड़े किए
बगैर वीजा के फर्जी दस्तावेज के आधार पर नेपाल से भारत आई थी
अरुण वर्मा
महाराजगंज। दो अप्रैल को गिरफ्तार युक्रेन की मॉडल को हाईकोर्ट से सशर्त जमानत के बाद भी राहत मिलता नहीं दिख रहा है. भारत स्थित युक्रेन दूतावास के अधिकारियों ने यह कहते हुए अपने हाँथ ऊपर कर लिए कि मॉडल नेपाल की वीजा पर आई थी, ऐसे में हम कैसे गारण्टी ले सकते हैं. उसके बाद पुलिस टीम मॉडल को लेकर महाराजगंज वापस आ गई. 

 

दो अप्रैल को गोरखपुर के पार्क रोड स्थित एक होटल से युक्रेन की मॉडल डारिया मोलचन को एसटीएफ की टीम ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर भारत में आने के आरोप में गिरफ्तार कर महराजगंज जिला कारागार भेज दिया था. कोर्ट द्वारा सशर्त जमानत मिलने के बाद जेल से रिहा होने के बावजूद इस मॉडल की मुश्किल कम नहीं हुई है. भारत स्थित यूक्रेन दूतावास द्वारा इस संबंध में उसका सहयोग न करने की बात सामने आ रही है.  इस बारे में फिलहाल अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं. बताया जा रहा है कि दूतावास के अधिकारियों ने यूक्रेन की मॉडल डारिया मोलचन की जिम्मेदारी लेने से इंकार कर दिया है. दूतावास में इस संबंध में अधिकारियों के बीच काफी देर तक बैठक होने की बात कही गई है.  दूतावास द्वारा इस संबंध में हाथ खड़े कर दिए गए हैं. बताया जा रहा है कि इस मामले में पुलिस अब विधिक राय लेकर आगे की कार्रवाई करेगी. 
हाईकोर्ट से सशर्त जमानत मिलने के बाद शुक्रवार को यूक्रेन की मॉडल  जेल से रिहा हुई. रिहाई के बाद क्राइम ब्रांच व एलआइयू की टीम उसे लेकर दिल्ली रवाना हो गई.  शनिवार सुबह यूक्रेनी दूतावास पहुंचने के बाद अधिकारियों को मामले की जानकारी देते हुए डारिया को दूतावास के अधिकारियों के सामने पेश किया गया लेकिन यूक्रेन दूतावास के अधिकारियों ने डारिया के यूक्रेन से नेपाल के वीजा पर आने की बात कह  जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया . पुलिस अधिकारियों के हस्तक्षेप करने पर प्रकरण को लेकर देर रात तक दूतावास में बैठक चली लेकिन सहमति नहीं बन पाई. फिलहाल दूतावास के अधिकारियों ने इस संबंध में अपने देश के अधिकारियों से बात करने की बात कही है. 
गिरफ्तारी के दौरान डारिया मोलचन के पास से पुलिस ने दो पासपोर्ट और एक ड्राइविंग लाइसेंस भी बरामद किये थे. पुलिस के मुताबिक मॉडल डारिया नेपाल के रास्ते बिना वीजा के भारत में आई थी. पूछताछ के दौरान पता चला कि नेपाल में उसके दो दोस्तों ने उसकी भारत आने में मदद की थी. यहां होटल में रहने और फिर नेपाल के रास्ते यूक्रेन भेजने की जिम्मेदारी शहर के बड़े बिजनेस मैन ने ली थी.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *