वाराणसी के बहाने सेतु निगम के सभी फ्लाईओवर और आरओबी की जांच

वाराणसी में फ्लाईओवर के ढहने और करीब 20 लोगों की मौत के बाद शासन की नींद टूटी है. प्रदेश शासन की ओर से संकेत मिलने के बाद जिला अधिकारियों ने पूरे प्रदेश भर में उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम के निर्माण कार्यों की जांच शुरू कर दी है.

इलाहाबाद में निर्माणाधीन आठ आरओबी और फ्लाईओवर की जांच के लिए जिलाधिकारी ने 3 सदस्यीय 8 टीमों का गठन किया है. जांच टीमों में ऐसे अफसरों को शामिल किया गया है जिन्हें पुल बनाने का जरा भी तकनीकी ज्ञान नहीं है.
वाराणसी में हुए हृदयविदारक हादसे के बाद जांच के नाम पर औपचारिकताओं को पूरा करने का खेल किया जा रहा है. इलाहाबाद में जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने भी 24 ऐसे अफसरों की 8 टीमों का गठन किया है जिसमें पुल के निर्माण संबंधी तकनीकी ज्ञान की जानकारी रखने वाला एक भी अफसर नहीं है. ऐसे में यह अफसर पुलों के निर्माण में किए जाने वाले तकनीक के बारे में कैसी जांच करेंगे और उसके बारे में कैसी रिपोर्ट देंगे? इस पर सवाल खड़ा होता है. लगभग सभी टीमों में एक-एक प्रशासनिक अफसर रखे गए हैं, जो अपरजिलाधिकारी और sdm स्तर के हैं. इसके अलावा लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग, जल निगम के अभियंताओं को शामिल किया गया है.
DM ने जारी किए गए आदेश में कहा है कि सभी टीमें निर्माण में इस्तेमाल की जा रही सामग्री की गुणवत्ता, लैब टेस्टिंग समेत अन्य प्रणालियों की जांच कर देर शाम तक रिपोर्ट देंगे. इस किस्म की अन्य उन जनपदों में भी जांच कराई जा रही है, जहां आरओबी फ्लाईओवर के निर्माण किए जा रहे हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *