CBI को बड़ी सफलता, दाऊद का साथी फारुक दुबई से गिरफ्तार

मुंबई,(एएनआइ)। दाऊद के भारत आने की चर्चाओं के बीच मुंबई बम ब्लास्ट 1993 के आरोपी फारुक टकला को सीबीआई ने दुबई में गिरफ्तार किया है। उसे गुरुवार को दुबई से मुंबई लाया गया है। फारुक को दाऊद इब्राहिम का दायां हाथ बताया जाता है। सन 1995 में फारुक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था।
फारुक ब्लास्ट के बाद ही भारत से भाग गया था। गुरुवार सुबह फारुक के एयर इंडिया के विमान से मुंबई लाया गया जिसके बाद उसे सीधे सीबीआई ऑफिस ले जाया गया। सीबीआई उसे टाडा कोर्ट में पेश करेगी और उसकी कस्‍टडी लेने की कोशिश करेगी। सीबीआई को फारुक से कई और जानकारी मिलने की उम्‍मीद है। सीबीआई फारुक से और साथियों और दाऊद से जुड़ी जानकारी निकालने की कोशिश करेगी।
राकांपा नेता और वरिष्ठ आपराधिक वकील मजिद मेनन ने कहा कि फारुक टकला का वापस मुंबई आना तथ्य यह दर्शाता है कि उसने ट्रायल के लिए वापस आने की इच्छा व्यक्त की थी। उसे निश्चित रूप से हिरासत में भेज दिया जाएगा और जमानत के बारे में कोई प्रश्न ही नहीं उठता है। उधर, वरिष्ठ वकील उज्जवल निकम ने कहा कि यह एक बहुत बड़ी सफलता है। फारुक 1993 में हुए मुंबई बम विस्फोटों में शामिल था। यह डी-गैंग के लिए बहुत बड़ा झटका है।

फारुक पर साजिश रचने का आरोप
फारुक टकला मुंबई धमाकों में दाऊद इब्राहीम के साथ मुख्य आरोपी है। उसपर 1993 में मुंबई के सीरियल धमाके की साजिश रचने का आरोप है। फारुक टकला पर साजिश, मर्डर और आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है।

धमाकों में 257 लोगों की मौत
12 मार्च, 1993 को दोपहर करीब 1.29 बजे मुंबई की एयर इंडिया बिल्डिंग, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज, झावेरी बाजार, होटल सीरॉक और होटल जुहू सेंटर पर एक के बाद एक 12 धमाके हुए। इन धमाकों में 257 लोगों की मौत हो गई और 700 से ज्यादा लोग जख्मी हो गए थे। इन धमाकों में बड़ी मात्रा में आरडीएक्स का इस्तेमाल किया गया था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *