भारी बारिश और भूस्खलन के कारण फिर रुकी अमरनाथ यात्रा, अब तक 9 श्रद्धालुओं की जान गई

जम्मू कश्मीर में भारी बारिश और भूस्खलन को देखते हुए पवित्र अमरनाथ यात्रा एक बार फिर और रोक दी गई है. जानकारी के अनुसार पहलगाम और बालटाल के रास्तों में भूस्खलन होने के कारण यात्रियों को आगे जाने से रोका गया है. पवित्र यात्रा के दौरान अब तक कुल 9 श्रद्धालुओं की मौत भी हो चुकी है. 4 श्रद्धालु घायल हैं. घायलों में एक श्रद्धालु और तीन स्थानीय लोग बताए जा रहे हैं.
भारी बारिश के कारण अमरनाथ यात्रा के रास तीन फिसलन भरे हो गए हैं. पहाड़ी क्षेत्र में जगह-जगह भूस्खलन के कारण मलबा इकट्ठा हो गया है. रास्तों से मिट्टी हटाने का काम तेजी से चल रहा है. रास्ता साफ होने तक यात्रियों को कैंपों में ही रहने के आदेश दिए गए हैं. पूरी तरह से मलवा हटने और मौसम साफ होने के बाद ही यात्रियों को आगे रवाना किया जाएगा.
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार की सुबह ही ट्वीट कर कहा कि अमरनाथ यात्रा के दौरान बालटाल मार्ग पर भूस्खलन के कारण बहुमूल्य जिंदगियों के नुकसान से आहत हूं. भगवान उनके परिवार को साहस दे घायलों की रिकवरी की प्रार्थना करता हूं. बता दें कि खराब मौसम के चलते बीते शनिवार से यात्रा रुकी हुई थी. मंगलवार को मौसम साफ होने पर यात्रा को शुरू किया गया, लेकिन शाम को अचानक मौसम खराब होने पर यात्रा फिर रोक दी गई. मंगलवार को करीब 3000 श्रद्धालुओं का चौथा जत्था रवाना किया गया था.
बताते हैं कि मंगलवार की शाम को अचानक मौसम खराब हो जाने के बाद तेज बारिश हुई. इस कारण बालटाल में चार अलग-अलग जगहों पर भूस्खलन हुए. इनमें तीन भूस्खलन बालटाल कैंप इलाके में हुई. एक भूस्खलन अमरनाथ यात्रियों के ट्रैकिंग मार्ग रेल पथरी में हुआ. ऊपर से अचानक मिट्टी और पत्थर गिरने लगे मलबे के अंदर कई लोग दब गए. सेना और एनडीआरएफ के जवानों ने मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला. घायलों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
नौ यात्रियों की मौत हुई
अमरनाथ यात्रा के दौरान अब तक नौ यात्रियों की मौत हो चुकी है. मंगलवार को बाल्टाल इलाके में भूस्खलन में दबने से तीन यात्रियों की मौत हो गई, जबकि चार अन्य घायल हो गए. पुलिस के अनुसार तीन श्रद्धालुओं की मौत भूस्खलन में दबने, छह की ह्रदयाघात और अन्य कारणों से हुई है. जानकारी के मुताबिक, बालटाल कैंप में आंध्र प्रदेश की थोटा रधनाम (75) और राधाकृष्ण शास्त्री (65) की हृदयाघात से मौत हो गई. घायलों को सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार किया जा रहा है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *