अपनी एजुकेशन लाइफ में पर्सनल लाइफ न हावी होने दें : सौरभ सिंह

मेजर कलशी क्लासेज के कार्यक्रम में एकेडमिक डायरेक्टर ने छात्रों को सफलता के सूत्र बताए, कहा- विचार सकारात्मक रखें, लगातार प्रयास करें सफलता अवश्य मिलेगी, शहीद सैनिकों की पत्नियों को सम्मानित भी किया गया
इलाहाबाद। हम चैन की नींद सोते हैं. क्यों ? इसलिए कि हमारे जवान सरहद पर पहरा दे रहे होते हैं. ये जवान हमारे बीच के ही होते हैं. लेकिन सेना के इन अफसरों और जवानों की नियुक्ति की एक प्रक्रिया होती है और इसमें इनकी मदद करता है- मेजर कलशी क्लासेज. युवाओं को लक्ष्य बताने और मार्गदर्शन के लिए रविवार को प्रयाग संगीत समिति के आडिटोरियम में ‘ लक्ष्य ‘ नाम से एक कार्यक्रम रखा था. इसमें न सिर्फ छात्रों का उत्साहवर्धन किया गया बल्कि लक्ष्य पाने के तरीके भी संस्थान के एकेडमिक डायरेक्टर  सौरभ सिंह ने बताए.
सौरभ सिंह ने कहा कि जो काम कभी भी हो सकता है, वह कभी नहीं होता. इसलिए काम को अभी कीजिए. बिना देर किए. कुछ पाने के लिए त्याग करना पड़ता है. उन्होंने छात्रों से कहा कि अपनी एजुकेशन लाइफ में पर्सनल लाइफ मत आने दीजिए. एक साल के लिए सबकुछ भूल जाइए . सिर्फ व सिर्फ पढ़ाई और सेना में तैयारी पर ध्यान दीजिए. सफलता अवश्य मिलेगी.  नदी किनारे हंस और बगुला दोनों होते हैं, हंस मोती चुगता है और बगुला मछ्ली. अब आप छात्रों को चुनना है कि किस वर्दी को पहनना पसंद करेंगे. अधिकारी की या …लगातार छोटे-छोटे काम से बड़े लक्ष्य को आसानी से पाया जा सकता है. इसलिए हमें सफलता के लिए लगातार प्रयास करना चाहिए.
विचार हमेशा सकारात्मक रखें
सौरभ सिंह ने सकारात्मक विचार की एक रोचक जानकारी दी. कहा- अपने स्कूल के एक छात्र को अध्यापिका ने एक लिफाफा दिया. कहा- इसे खोलना नहीं, अपनी माँ को दे देना. बालक ने ऐसा ही किया. मां ने जब लिफाफा खोलकर पढ़ा तो उनकी आंख में आंसू आ गए. बच्चे ने उत्सुकतावश पूछा, मां क्या लिखा है. मां ने कहा- लिखा है, आपका बच्चा पढ़ने में काफी तेज है. इतना कि इसे कोई शिक्षक नहीं पढ़ा सकता. इसके लिए स्कूल की भी जरूरत नहीं है, यह घर पर ही पढ़ सकता है. इसके बाद बच्चे को स्कूल भेजना बंद कर दिया और घर पर ही पढ़ाने लगीं. सालों  गुजर गए. मकान शिफ्ट करने का समय था. अचानक एक अटैची में एक लिफाफा मिला. अब तक बालक से बड़े हो चुके युवा ने उसे खोला और पढ़ा. उसमें लिखा था – आपका बच्चा पढ़ने में बेहद कमजोर है, इतना कि कोई टीचर उसे पढ़ा नहीं सकता, वह जीवन में कुछ नहीं कर पाएगा. वह पागल है, बेवजह प्रयोग करता रहता है. उसे स्कूल न भेजें. उस युवा के आंख में आंसू आ गए. वह बालक अब कोई सामान्य युवा नहीं था. वह बल्ब व अन्य चीजों का आविष्कार करने वाला महान वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडिसन था. यह मां का सकारात्मक सोच था कि बेटे को महान वैज्ञानिक बना दिया. इसलिए मेरे छात्रों अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखें , नकारात्मकता हावी न होने दें, सफलता अवश्य मिलेगी.

रंगारंग कार्यक्रम भी हुए

मेजर कलशी क्लासेज के कार्यक्रम में छात्रों ने गणेश वंदना, बंदे मातरम, डांस और नाटक से उपस्थित लोगों का मन मोह लिया. इस कार्यक्रम में पांच हजार से अधिक छात्रों और अभिभावकों ने भाग लिया. इस अवसर पर शहीद सैनिकों की पत्नियों को चीफ गेस्ट ब्रिगेडियर बृजेश पांडेय, इंस्पेक्टर संतोष शर्मा और मीडिया बंधुओं द्वारा सम्मानित किया गया. उनके बच्चों को छात्रवृत्ति भी प्रदान की गई. इस दौरान सेना के सेवानिवृत्त अधिकारियों ने सेना में अपने लंबे अनुभव को साझा किया और डिफेंस क्षेत्र के लिए अपने आपको तैयार करने की खातिर सुझाव भी दिए. अधिकारियों में कर्नल सौमित्र दत्त , विंग कमांडर केपी ठाकुर, ग्रुप कैप्टन एलके पांडे , विंग कमांडर उपेंद्र ठाकुर , फ्लाइंग ऑफिसर विजय बहादुर सिंह, स्क्वॉड्रन लीडर जीडी द्विवेदी, जूनियर वारंट अफसर आरएन मिश्र प्रमुख रहे. इस अवसर पर मेजर कलशी क्लासेज द्वारा रक्षा क्षेत्र में अपने 11 वर्ष पूरे करने पर केक काटकर खुशियां भी मनाई गई. कार्यक्रम की शुरुआत संस्थान की निदेशिका श्रीमती रेखा सिंह ने दीप जलाकर किया.

चयनित छात्र सम्मानित

इस अवसर पर सशस्त्र सेनाओं में चयनित छात्रों को मेडल प्रदान करके सम्मानित किया गया . इन छात्रों ने अपने अनुभव भी नए छात्रों से साझा किए. मालूम हो कि अप्रैल 2018 में हुई NDA-1- 2018 की परीक्षा में 513 एवं अन्य परीक्षा जैसे – एयर फोर्स एक्स, वाई ग्रुप एवं नेवी -एसएसआर परीक्षा में 500 से अधिक छात्रों का चयन मेजर कलशी क्लासेज के दिशा निर्देशन में हुआ है. संस्थान के सेंटर हेड श्री प्रकाश गुप्ता ने 14 अक्टूबर 2018 को संस्थान की ओर से आयोजित स्कालरशिप परीक्षा ” एमकेसी टैलेंट हंट ” की जानकारी दी. यह परीक्षा 6 राज्यों के 120 से अधिक जिलों में होगी. इस परीक्षा के जरिए छात्रों को 6 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति और 7.44 लाख रुपए की नगद राशि वितरित की जाएगी. उन्होंने बताया कि संस्थान 6, 13, 20 और 27 अगस्त को नया बैच शुरू करने जा रहा है. ज्यादा जानकारी के लिए www.majorkalshiclasses.com  या 9696220022 पर सम्पर्क किया जा सकता है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *